सपा MLA हरिओम यादव पार्टी से निष्कासित, मुलायम सिंह यादव के हैं करीबी

Smart News Team, Last updated: Mon, 15th Feb 2021, 9:19 PM IST
  • भाजपा से सांठगांठ के आरोप में फिरोजाबाद जिले के सिरसागंज क्षेत्र से विधायक हरिओम सिंह यादव को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया. यह कर्रवाई समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर की गई है.
सपा MLA हरिओम यादव पार्टी से निष्कासित मुलायम सिंह यादव के हैं करीबी

लखनऊ. यूपी पंचायत चुनाव के माहौल में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सपा विधायक और मुलायम सिंह यादव के करीबी कहे जाने वाले हरिओम सिंह यादव को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है. हरिओम यादव पर भाजपा से सांठगांठ का आरोप है.

सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने सोमवार को यह बताया कि अखिलेश यादव के निर्देशानुसार सिरसागंज से विधायक हरिओम सिंह यादव को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने तथा भारतीय जनता पार्टी से सांठगांठ करने के कारण समाजवादी पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित किया गया है. गौरतलब है कि पिछले वर्ष नवंबर में हुए उपचुनाव के दौरान फ‍िरोजाबाद की टूंडला सीट से सपा उम्‍मीदवार की हार के बाद हरिओम सिंह यादव ने अखिलेश यादव समेत पार्टी के नेताओं के खिलाफ कथित बिगड़े बयान दिए थे. हरिओम सिंह यादव ने कहा था, कि समाजवादी पार्टी टूंडला सीट इसलिए हार का सामना करना पड़ा है.

सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बने ‘टाइगर’, देश भर से मदद के लिए आगे आए हजारों हाथ

 क्‍योंकि स्‍थानीय नेताओं से लेकर अखिलेश यादव तक ने सपोर्ट नहीं किया. हरिओम यादव को मुलायम सिंह यादव के परिवार का करीबी माना जाता रहा है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हरिओम यादव मुलायम और शिवपाल के जमाने में सपाई है. और पार्टी में मुलायम सिंह की चलती खत्म होने के बाद से ही हरिओम सिंह यादव के बोल बिगड़ने शुरु हो गए, और पार्टी विरोधी बयान भी उनके तरफ से आने लगे हैं. जिसपर अखिलेश यादव ने कर्रवाई के निर्देश दिए.

पब्जी खेलने के लिए पोते ने दादा के अकाउंट से कर दी 5.5 लाख की पेमेंट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें