लखनऊ: रिटायर्ड डिप्टी एसपी के फ्लैट के फर्जी दस्तावेज बनाकर बेचा, पुलिस जांच में जुटी

Smart News Team, Last updated: 23/02/2021 01:25 PM IST
  • लखनऊ के हजरतगंज क्षेत्र में रिटायर्ड डिप्टी एसपी के फ्लैट की डीलर ने किसी और के नाम रजिस्ट्री कर दी. पीड़ित एसपी कैलाश सिंह ने वज़ीरगंज थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है.
फर्जी दस्तावेज बनाकर डिप्टी एसपी का फ्लैट बेचा.( सांकेतिक फोटो )

लखनऊ: लखनऊ में पुलिस के रिटायर अधिकारी से धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. शहर के हजरतगंज इलाके में रहने वाले रिटायर्ड डिप्टी एसपी कैलाश नाथ सिंह के फ्लैट कुछ लोगों ने फ़र्ज़ी दस्तावेज दिखाकर रजिस्ट्री करा ली. मामले का पता लगने के बाद रिटायर्ड डिप्टी एसपी ने वज़ीरगंज थाना में एफआईआर दर्ज कराई है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

रिटायर्ड डिप्टी एसपी ने बताया, कि उन्होंने 30 साल पहले प्रवीण पाठक नाम के व्यकित से एक फ्लैट खरीदा था. जिसके लिए उन्होंने बतौर एडवांस 1.40 लाख रुपये दिए थे. फ्लैट बन जाने के बाद वह इसमें आकर रहने भी लगे. लेकिन हमेशा ड्यूटी बाहर होने के कारण वह यहां कम ही आ पाते थे. फ्लैट में रहने के कुछ समय बाद उन्होंने प्रवीण पाठक से फ्लैट की रजिस्ट्री की बात की, लेकिन वह हमेशा ही इस बात को टालता रहा. रिटायर होने के बाद वह पूर्ण रुप से इसमें रहने लगे.

अखिलेश का BJP की केंद्र और UP सरकार पर निशाना, कहा- खास वर्ग के लिए कर रहीं काम

कुछ समय पहले उनको पता चला कि फ्लैट की रजिस्ट्री किसी सुरेश अवस्थी नाम के व्यक्ति को कर दी है. पीड़ित रिटायर्ड एसपी कैलाश सिंह ने वजीरगंज थाना में प्रवीण पाठक, प्रशांत पाठक, मनीष गुप्ता, शिशिर शुक्ला, इमरान खान व नारायण त्रिपाठी के खिलाफ मुक़दमा दर्ज कराया है. पुलिस ने मामले की जांच का आश्वासन दिया है.

पारंपरिक से ट्रेडिंग तक, ग्राहकों का अटूट विश्वास है बद्री सर्राफ रिंग रोड

लखनऊ: लोहिया संस्थान में बनेगा न्यूरोसाइंस सेंटर, बजट के दौरान सरकार ने की घोषणा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें