ट्रांसजेंडर बच्चा हुआ पैदा तो अपनों ने छोड़ा साथ, अब अमेरिकी दंपती देगा प्यार

Smart News Team, Last updated: 03/02/2021 02:10 PM IST
  • लखनऊ में दो साल के ट्रांसजेंडर बच्चे को उसके माता-पिता ने अनाथलय में छोड़ दिया था. अब डेढ़ साल बाद एक अमेरिकी दंपती उसके लिए फरिशता बनकर आया है जो उसे गोद लेना चाहते हैं.
लखनऊ में ट्रांसजेंडर बच्चे को अमेरिकी दंपती गोद लेगा.

लखनऊ. यूपी की राजधानी में दो साल के एक ट्रांसजेंडर बच्चे को उसके परिवार वालों ने अनाथालय में दे दिया. डेढ़ साल बाद अमेरिका के एक दंपती ने उसे गोद लेने का फैसला किया है और उन्हें बाल आयोग ने भी अनुमति दे दी है. मिली जानकारी के अनुसार दंपती ने बच्चे का इलाज कराने का भी वादा किया है.

उत्तर प्रदेश बाल आयोग की सदस्य डॉ. प्रीति वर्मा ने बताया कि थर्ड जेंडर के अधिकारों को कानूनी मान्यता मिल गई है इसके बाद भी लोग जागरूक नहीं हो रहे हैं और उन्हें एक अभिशाप की तरह देख रहे हैं. 

लखनऊ के ट्रांसजेंडर बच्चे की उम्र इस समय साढ़े तीन साल है और उसके माता-पिता डेढ़ साल पहले अनाथलय में किसी को बिना बताए उसे छोड़कर चले गए थे. अनाथलय से मिली जानकारी के अनुसार उसके हाथ में पचास रुपए का नोट था और तभी से वह मोतीनगर स्थित लीलावती मुंशी निराश्रित बालगृह अडॉप्शन सेंटर में रह रहा है. 

UP में गंदगी फैलाने वालों की अब खैर नहीं, सरकार उठाने जा रही बड़ा कदम, जानें

बच्चों के अडॉप्शन अफसर शिल्पी सक्सेना ने जानकारी दी कि ट्रांसजेंडर बच्चे को कारा संस्था के माध्यम से अमेरिकी दंपती गोद ले रहा है. विदेशी दंपती अमेरिका में नौकरी करता है और उन्होनें वीडियो कॉल पर बच्चे से बात भी की है. बच्चे के अडॉप्शन को लेकर कागजी कार्यवाही जारी है और जल्द ही बच्चा दंपती को सौंपा जाएगा. 

ऐप के फेर ने फंसाया 8 हजार नगर निगम कर्मियों का वेतन, जानें पूरा मामला

वहीं डॉ. प्रीति के अनुसार डॉक्टरों का कहना है कि बच्चे को कोई समस्या नहीं है जिससे वह ठीक ना हो सके. ट्रांसजेंडर बच्चे का हॉर्मोनल सिस्टम भी ठीक है. उन्होनें कहा कि एक छोटी सर्जरी के बाद वह सामान्य जीवन जी सकेगा. 

लखनऊ नगर निगम के कचरा वाहन खरीदने में हुआ घोटाला, ज्यादा पैसे देकर खरीदे गए 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें