वितरण का पहला चरण: कल से अन्त्योदय और पात्र गृहस्थी लाभार्थी को मुफ्त राशन

Smart News Team, Last updated: 04/05/2021 11:08 PM IST
  • बुधवार से उत्तर प्रदेश में अन्त्योदय व पात्र गृहस्थी कार्डधारकों के लिए मुफ्त राशन वितरण का पहला चरण शुरू होगा, जोकि 14 मई तक चलेगा. इन लाभार्थियों को आवश्यक वस्तुओं का वितरण कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए किया जाएगा. इसके अलावा टोकन सिस्टम से मुफ्त राशन दिया जाएगा.
वितरण का पहला चरण: कल से अन्त्योदय और पात्र गृहस्थी लाभार्थी को मुफ्त राशन

लखनऊ. प्रदेश में अन्त्योदय एवं पात्र गृहस्थी कार्डधारकों के लिए बुधवार से मुफ्त राशन वितरण का पहला चरण शुरू हो रहा है. इस संबंध में खाद्य व रसद आयुक्त मनीष चौहान ने जानकारी दी कि आवश्यक वस्तुओं का वितरण 14 मई तक चलेगा. यह वितरण कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए कराया जाएगा. वहीं अपर आयुक्त अनिल कुमार दुबे ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तीसरे चरण का वितरण मई के दूसरे वितरण चक्र में कराया जाएगा. तीसरे चरण के तहत निशुल्क खाद्यान्न का वितरण पांच किलो प्रति यूनिट के अनुसार कराया जाएगा.

मनीष चौहान ने बताया कि जिलाधिकारियों एवं जिला पूर्ति अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि वे उचित दर विक्रेतावार अधिकारियों की तैनाती करें. इसके अलावा उन्होंने उचित दर की दुकानों पर टोकन सिस्टम लागू करने को कहा है. साथ ही यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि एक दुकान पर एक समय में पांच उपभोक्ता से अधिक न रहे. इसके अलावा हर दुकान पर ई-पॉस के समय सैनिटाइजर, साबुन एवं पानी की व्यवस्था भी की जाए.

चुनाव में ड्यूटी के दौरान कोरोना से मरने वालों को लेकर योगी सरकार का बड़ा फैसला

वहीं जिला पूर्ति अधिकारी, क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी और बाप माप निरीक्षकों की ओर से एक संयुक्त टीम गठित करने को भी कहा गया है. जिससे वितरण के दौरान सभी व्यवस्थाओं की जांच की जा सके. इसके अलावा वितरण के दौरान अन्त्योदय कार्डधारकों को प्रति कार्ड 35 किलो खाद्यान्न यानी 20 किलो गेहूं एवं 15 किलो चावल वितरित किया जाएगा. वहीं पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को प्रति यूनिट पांच किलो खाद्यान्न यानी तीन किलो गेहूं एवं दो किलो चावल का वितरण किया जाएगा. जिसमें गेहूं दो रूपये और चावल तीन रूपये प्रति किलो के दाम पर दिया जाएगा.

यूपी पुलिस SI भर्ती के उम्मीदवारों की उम्र को लेकर जरूरी सूचना, यहां पढ़ें

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें