लखनऊ यूनिवर्सिटी में बना यूपी का पहला ट्राइबल म्यूजियम, दीक्षांत समारोह में होगा लोकार्पण

Indrajeet kumar, Last updated: Thu, 18th Nov 2021, 9:03 AM IST
  • लखनऊ यूनिवर्सिटी में 26 नवंबर को होने वाले दीक्षांत समारोह में एक ट्राइबल म्यूजियम का लोकार्पण किया जाएगा. इस संग्रहालय को एन्थ्रोपोलॉजी विभाग ने बनाया है. ये प्रसदेश का पहला ट्राइबल म्यूजियम है. इस म्यूजियम थारू व अन्य 18 नई जनजातियों के जीवन, उनकी संस्कृति, वेशभूषा, खानपान को दिखाने वाली कई चीजें रखी गई है.
लखनऊ यूनिवर्सिटी में बना यूपी का पहला ट्राइबल म्यूजियम

लखनऊ. यूनिवर्सिटी के 26 नवंबर को होने वाले 64वें दीक्षांत समारोह होगा. इस यूनिवर्सिटी में एक ट्राइबल म्यूजियम बनाया गया है. विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. विनोद कुमार सिंह ने बताया कि इस विशेष संग्रहालय का लोकार्पण दीक्षांत समारोह में किया जाएगा. इस म्यूजियम को एन्थ्रोपोलॉजी विभाग ने बनाया है. इस म्यूजियम में उत्तर प्रदेश की आदिवासी जनजातियों से जुड़ी चीजें रखी गई हैं. ये उत्तर प्रदेश का पहला म्यूजियम है पहला आदिवासी संग्रहालय होगा. संग्रहालय के काम को देख रही डॉ. केया पांडेय ने बताया कि उप्र की थारू व अन्य 18 नई जनजातियों के जीवन, उनकी संस्कृति, वेशभूषा, खानपान को दिखाने वाली कई चीजें इस संग्रहालय में रखी जा रही हैं. लोकार्पण के बाद विश्वविद्यालय के छात्रों के अलावा अन्य लोग भी यह इस म्यूजियम को देख सकते हैं.

कुलसचिव डॉ. विनोद कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि दीक्षांत समारोह में ही कर्मचारी आवास टाइप-2 का और सेवा भवन का लोकार्पण करने पर भी विचार हो रहा है. आवास को लेकर फैसला गुरुवार को होने वाली कार्यपरिषद की बैठक में होगा. साथ ही जिन शिक्षकों ने कोई किताबें लिखी है उसका उसका विमोचन भी इसी कार्यक्रम में किया जाएगा. 26 नवंबर को होने वाले दीक्षांत समारोह में चांसलर मेडल समेत विवि के कुल 15 मेडल दिए जाएंगे. इसके अलावा 180 मेडल विभागवार कार्यक्रम आयोजित करके दिए जाएंगे. मेडल प्रदान करने के लिए सभी विभागों को निर्देश दे दिया गया है. सभी विभाग शनिवार या रविवार को अपने सहूलियत के हिसाब से मेडल का वितरण करे सकते हैं. यूनिवर्सिटी के अंदर अगर हर हफ्ते 2 विभाग कार्यक्रम करता है तो मेडल वितरण करने में करीब तीन महीने का समय लग जाएगा.

KGMU कर्मचारियों की हड़ताल, बिना इलाज लौटे 1500 मरीज

विश्वविद्यालय में दीक्षांत समारोह की तारीख तय हो गई है लेकिन समय तय नहीं हो पाया है. क्योंकि राजभवन से अब तक राज्यपाल का समय नहीं मिल पाया है. राजभवन से मिले समय के हिसाब से ही कार्यक्रम का समय तय किया जाएगा. विश्वविद्यालय में कार्य परिषद की बैठक को होगी. बैठक के दौरान दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि पर चर्चा होगी. साथ ही गुरुवार को चांसलर मेडल के लिए इंटरव्यू भी होगा. इसके बाद मेडल पाने वालों के नामों की घोषणा भी कर दिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें