ट्रैफिक नियमों के पालन से लखनऊ में 37 फीसदी, प्रदेश में 29 फीसदी सड़क हादसे कम

Smart News Team, Last updated: Mon, 28th Sep 2020, 7:28 AM IST
लखनऊ में ट्रैफिक नियमों की सख्ती और गाड़ी चलाने वालों में बढ़ी जागरूकता की वजह से शहर में 37 फीसदी सड़क हादसे घटे हैं. राज्य की बात करें तो 29 फीसदी सड़क दुघर्टना कम हुई है. इस कारण 26 प्रतिशत लोगों की जान बची है. यह बात रोड सेफ्टी सेल की जनवरी से अगस्त 2020 की रिपोर्ट में सामने आई है.
ट्रैफिक नियमों के पालन से लखनऊ में 37 फीसदी, प्रदेश में 29 फीसदी सड़क हादसे कम, प्रतीकातम्क फोटो

लखनऊ. लखनऊ  में ट्रैफिक नियमों की सख्ती और गाड़ी चलाने वालों में बढ़ी जागरूकता की वजह से शहर में 37 फीसदी सड़क हादसे घटे हैं. राज्य की बात करें तो 29 फीसदी सड़क दुघर्टना कम हुई है. इस कारण 26 प्रतिशत लोगों की जान बची है.

रोड सेफ्टी सेल की जनवरी से अगस्त 2020 तक जारी रिपोर्ट के मुताबिक आठ महीने में सड़कों पर होने वाली दुर्घटना में गिरावट दर्ज हुई है. कोरोना काल में लाॅकडाउन के कारण भी काफी कम गाड़ी सड़कों पर निकली है.  इन आठ में से सिर्फ दो महीनों में ही लाॅकडाउन था.इसके बाद भी वाहन चालकों के नियमों के प्रति जागरूकता और ट्रैफिक पुलिस की मुस्तैदी के कारण रोड़  पहले से थोड़े सुरक्षित हुए है.

UP-BIHAR की बसें यात्रियों से लेंगी अलग-अलग किराया, दिवाली पर होगा संचालन

रोड सेफ्टी सेल की जनवरी से अगस्त 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक वाहन चलाने वालों नियमों के पालन करने में और इस कारण सबसे कम सड़क हादसों में पहले नंबर पर मुरादाबाद, दूसरे पर नोएडा और तीसरे पर लखनऊ रहा. प्रदेश में सबसे ज्यादा रोड़ दुर्घटना के मामलों में कासगंज, हरदोई और औरैया जिला रहा.

लखनऊ: गलत तरीके से कार ओवरटेक का विरोध किया तो चला दी गोली, आरोपी फरार

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की 2018 स्‍टडी के अनुसार रोड़ दुर्घटनाओं में 1.51 लाख लोगों की मौत और 4.69 लाख लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की बात कहीं. इससे कुल 1.47 लाख करोड़ रुपये का प्रभाव पड़ने की बात थी.  कुछ मामलों में  तो मौत और लगी हुई चोट के बारे में ही पता नहीं लगता. इस स्टडी ने इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए 5.9 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान लगाया था. हम सभी लोग ट्रैफिक नियमों का पालन करें तो इनमें से कई लोगों की जिंदगी बच सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें