पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी पीजीआई के आईसीयू वार्ड में शिफ्ट, हालत नाजुक

Smart News Team, Last updated: Sun, 14th Feb 2021, 2:12 PM IST
  • पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी को सांस लेने में दिक्कत के कारण डॉक्टर द्वारा उन्हें तुरंत पल्मोनरी मेडिसिन वार्ड में भर्ती करने के बाद शनिवार रात को लगातार बिगड़ती तबियत को देखते हुए विशेषज्ञ डॉक्टरों ने उन्हें आईसीयू में शिफ्ट कर दिया.
पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी पीजीआई के आईसीयू वार्ड में शिफ्ट, हालत नाजुक

लखनऊ। पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी की अचानक तबियत बिगड़ जाने पर डॉक्टरों ने उन्हें लखनऊ स्थित पीजीआई के पल्मोनरी मेडिसिन के आईसीयू वार्ड में शिफ्ट कर दिया. पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी को दिल को समस्या और डायबिटीज के साथ साथ अन्य कई दिक्कतें भी हैं. उनकी सारी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम की निगरानी में इलाज किया जा रहा है.

पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी 1 जनवरी को कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे, जिसके बाद उन्हें लखनऊ के पीजीआई में भर्ती कराया गया था. तकरीबन एक महीने तक इलाज के बाद कोरोना की जांच कराने पर उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी, लेकिन छुट्टी मिलने के दूसरे ही दिन शुगर का स्तर बढ़ जाने पर परिजनों ने उन्हें फौरन ही पीजीआई के इंडोमेडिसिन वार्ड में भर्ती कराया. सांस लेने में दिक्कत के कारण डॉक्टर ने उन्हें तुरंत पल्मोनरी मेडिसिन वार्ड में भर्ती कर दिया. शनिवार रात को लगातार बिगड़ती तबियत को देखते हुए विशेषज्ञ डॉक्टरों ने उन्हें आईसीयू में शिफ्ट कर दिया.

लखनऊ: सूअर चोरी के आरोप में युवक को पीट-पीट कर मार डाला

बताते चलें कि पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी कुछ माह पहले हल्के बुखार की चपेट में आये थे. 30 जनवरी को कोरोना की जांच में रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था लेकिन इसके बाद रविवार को अचानक शुगर लेवल बढ़ जाने से उनकी तबीयत दोबारा बिगड़ गई. सांस लेने में भी तकलीफ होने पर आनन फानन में उन्हें प्रयागराज में चिकित्सक का दिखाया गया, जहां से उन्हें एसजीपीजीआई लखनऊ रेफर कर दिया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें