CM योगी के सामने चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले अमिताभ ठाकुर अरेस्ट, घर के बाहर पूर्व IPS का हंगामा

Smart News Team, Last updated: Fri, 27th Aug 2021, 10:03 PM IST
  • यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने दावेदारी ठोकने का ऐलान करने वाले पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. लखनऊ की हजरतगंज पुलिस ने पूर्व आईपीएस को सुप्रीम कोर्ट के सामने आत्मदाह करने वाली गैंगरेप पीड़िता को खुदकुशी के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया है. इस रेप मामले में बसपा सांसद अतुल राय आरोपी है. 
आईपीएस अमिताभ ठाकुर लखनऊ से अरेस्ट, गिरफ्तारी के समय भारी हंगामा ( फोटो- वीडिया स्क्रीनशॉट)

लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने किसी भी सीट से चुनाव की घोषणा करने वाले पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. अमिताभ ठाकुर पर रेप पीड़िता को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है. ये वही रेप पीड़िता है जिसने हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के बाहर अपने साथी के साथ न्याय न मिलने का आरोप लगाते हुए खुद को आग के हवाले कर दिया था. इस मामले में बसपा सांसद अतुल राय पर मुख्य आरोपी हैं. पीड़िता द्वारा 2020 में दिए गए प्रार्थना पत्र के आधार पर लखनऊ के हजरतगंज थाने में शुक्रवार को केस दर्ज किया गया जिसके बाद शनिवार को अमिताभ को गिरफ्तार करने पुलिस उनके घर पहुंच गई. इस दौरान काफी हंगामा भी देखने को मिला और बड़ी मुश्किल से अमिताभ ठाकुर को पुलिस ने जीप वैन में डाला और ले गई.

प्रभारी सीजेएम सत्यवीर सिंह ने अभियुक्त अमिताभ ठाकुर को नौ सितंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है. अमिताभ को पुलिस की कड़ी सुरक्षा में देर शाम अदालत में पेश किया गया था और इस दौरान अमिताभ की पत्नी नूतन ठाकुर भी मौजूद थीं. नूतन ठाकुर ने अमिताभ की गिरफ्तारी को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा था- पुलिस द्वारा बिना कारण बताये/ एफ.आई.आर. की कॉपी दिए ण

को जबरन हज़रतगंज थाने ले जाया गया. किसी भी अप्रिय घटना की आशंका.

गौरतलब है कि एएसआई दयाशंकर द्विवेदी की तहरीर पर अमिताभ ठाकुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. तहरीर में पूर्व आईपीएस पर आरोप लगाया गया है कि पिछले साल 2020 में 10 नवंबर को रेप पीड़िता ने वाराणसी एसएसपी को प्रार्थना पत्र दिया था. इसमें रेप पीड़िता ने कहा था कि तत्कालीन पुलिस अधिकारी अमिताभ ठाकुर कोर्ट में पेश करने के लिए झूठे सबूत तैयार कर रहे हैं और इसके लिए उन्हें बसपा सांसद और आरोपी अतुल राय की ओर से पैसा मिला है. इसके साथ भी पीड़िता ने कहा कि उसे बदनाम करने की साजिश की जा रही और उसे आत्मदाह के लिए उकसाया जा रहा है.

पुलिस से एफआईआर की कॉपी मांगते रहे अमिताभ ठाकुर

अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी से पहले खबर थी कि उन्हें हाउस अरेस्ट किया गया है. शुक्रवार को लखनऊ पुलिस ने केस दर्ज किया और शनिवार दोपहर को गिरफ्तार कर लिया. इस दौरान उनकी पत्नी नूतन ठाकुर पूरे मामले का वीडियो शूट करती रहीं. अमिताभ ठाकुर को अरेस्ट करने पहुंची टीम को उन्हें ले जाने में काफी मुश्किलों का भी सामना करना पड़ा. अमिताभ ठाकुर लगातार पुलिस से एफआईआर कॉपी मांगते रहे और कहते रहे वे नहीं जाएंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें