गोरखपुर जाने के लिए निकले पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर को पुलिस ने रोका, CM योगी के खिलाफ UP चुनाव लड़ने का किया था ऐलान

Smart News Team, Last updated: Sat, 21st Aug 2021, 11:46 AM IST
  • उत्तर प्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आई है. खबरों के अनुसार राजधानी लखनऊ में पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को उत्तर प्रदेश पुलिस ने रोक लिया है. हाल ही के दिनों में पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान किया था.
CM योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर लखनऊ से गिरफ्तार, फोटो क्रेडिट ( अमिताभ ठाकुर ट्विटर)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आने वाले विधानसभा चुनाव में लड़ने का ऐलान करने वाले पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर लखनऊ पुलिस ने र लिया है. उनकी गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने अपना तर्क देते हुए कहा है कि पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को गिरफ्तार नहीं किया गया है सिर्फ उन्हें गोरखपुर जाने से रोका गया है. वहीं पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने इस घटना का जिक्र अपने ट्विटर अकाउंट पर भी किया है. 

ट्विटर पर पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने लिखा- 4/6 रेल विहार कॉलोनी, गोमतीनगर में पुलिस घेरे में हूं. यह चिट्ठी दी पर co ने जाने से मना कर दिया है. आगे की बात बताऊंगा. अरेस्ट संभव है और दूसरे पक्ष में डर बहुत ज्यादा है, जाने देने से बहुत डर रहे है. इसके साथ ही अमिताभ ठाकुर ने ट्वीट करते लिखा- पुलिस घेराबंदी शुरू गोमतीनगर सीओ ने गोरखपुर जाने से मना किया, बातचीत जारी.

पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर का बड़ा फैसला, राजनीति में करेंगे एंट्री, CM योगी के खिलाफ लड़ेंगे चुनाव

कुछ दिन पहले पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने ट्वीट करके सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान किया था. इस ट्वीट में पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने कहा था- कई साथी कह रहे हैं कि आप योगी जी के खिलाफ चुनाव लड़ जाइए. विचार बुरा नहीं है. वैसे मैं भी जानता हूं कि मुझे वोट बहुत ही कम मिलेंगे, नाममात्र के, क्योंकि मुझमें नेताओं वाले गुण नहीं हैं, पर इतना जरूर है कि उस चुनाव में योगी जी से आचार संहिता का पूर्ण पालन जरूर करवा दूंगा. 

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर पर 50 लाख की ब्लैकमेलिंग का आरोप, कोर्ट में केस दर्ज

बता दें 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी रहे अमिताभ ठाकुर मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं. अमिताभ ठाकुर योगी सरकार के खिलाफ हमेशा बयानबाजी करते रहते हैं. पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को जबरन रिटायर किया गया था. सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद इन्होंने एक ट्वीट भी किया था. इस ट्वीट में इन्होंने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा था- मुझे अत्यंत जिम्मेदार सूत्रों द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार योगीजी के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद से ही उच्चस्तरीय आदेशों के क्रम में मुझे फर्जी मुकदमों में फंसाने की कोशिश तेजी से शुरू हो चुकी है. अनुरोध है कि इन सब से मेरा निर्णय किसी भी प्रकार से प्रभावित नहीं होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें