पूर्व मंत्री और समाजवादी चिंतक भगवती सिंह का निधन, अखिलेश यादव ने दी श्रद्धांजलि

Smart News Team, Last updated: Sun, 4th Apr 2021, 2:55 PM IST
  • समाजवादी चिंतक और प्रदेश के पूर्व मंत्री भगवती सिंह का लखनऊ में रविवार सुबह निधन हो गया. वे बक्शी का तालाब स्थित डिग्री कॉलेज में रात्रि विश्राम कर रहे थे. वहीं पर रविवार सुबह उनका निधन हुआ
पूर्व मंत्री और समाजवादी चिंतक भगवती सिंह का निधन, अखिलेश यादव ने दी श्रद्धांजलि (फाइल फ़ोटो)

लखनऊ: डॉक्टर लोहिया, चंद्रशेखर, और राजनारायण के वक्त के समाजवादी चिंतक और प्रदेश के पूर्व मंत्री भगवती सिंह का लखनऊ में रविवार सुबह निधन हो गया. वे बक्शी का तालाब स्थित डिग्री कॉलेज में रात्रि विश्राम कर रहे थे. वहीं पर रविवार सुबह उनका निधन हुआ . उन्होंने अपने शरीर के अंग दान केजीएमयू मेडिकल कॉलेज को किया है. 1 बजे के बाद उनके पार्थिव शरीर के दर्शन के बाद केजीएमयू मेडिकल ले जाया गया जहां डॉक्टरों को सुपुर्द कर दिया गया.

मालूम हो कि भगवती सिंह डॉक्टर लोहिया, चंद्रशेखर, और राजनारायण जैसी शख्सियत के साथ बैठ कर राजनीति के गुर सीखी. उन्होंने समाजवादी पार्टी को मजबूत करने में उन्होंने पूरा जीवन समर्पित कर दिया.

कांग्रेस ने 17 जिलों के जिला पंचायत सदस्य के प्रत्याशियों की सूची जारी, देखें लिस्ट

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने किया शोक व्यक्त

भगवती सिंह के निधन पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा- शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना! ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति और शोक संतप्त परिजनों को इस दुख की घड़ी में संबल प्रदान करे. भावभीनी श्रद्धांजलि!

घर की छत से बरामद हुआ 3 महीने के मासूम का शव, पिता पर हत्या का शक, पूछताछ जारी

राजनीतिक सफर

भगवती सिंह का जन्म बीकेटी विकास खंड के अर्जुनपुर गांव में हुआ था. उन्होंने मजदूरों और किसानों को हक दिलाने की लिए कई बार आंदोलन किया. भगवती सिंह ने डॉक्टर लोहिया, चंद्रशेखर, और राजनारायण जैसी शख्सियत के साथ बैठ कर राजनीति सीखी. उन्होंने समाजवादी पार्टी को मजबूत करने में पूरा जीवन समर्पित कर दिया.

राज ठाकरे की पार्टी मनसे के नेता मर्डर केस में यूपी STF को कामयाबी, शूटर अरेस्ट

उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने चंद्र भानु गुप्ता कृषि महाविद्यालय की स्थापना भी की. साल 1977 में पहली बार महोना से विधायक बनने पर आवास विकास मंत्री बने थे. 1985 में विधायक,1990 में कैबिनेट में खेलकूद युवा कल्याण मंत्री, 1990 में सदस्य विधान परिषद,1993 में वन मंत्री,1998 में पुन: सदस्य विधान परिषद, 2003 में बाह्य सहायतित परियोजना मंत्री, तथा नेता सदन बने, वर्ष 2004 में राज्यसभा सदस्य बनाये गए. वरिष्ठ समाजवादी नेता भगवती सिंह द्वारा पौराणिक तीर्थ स्थल चंद्रिका देवी मंदिर का विकास कराया गया, बख्शी का तालाब तहसील की स्थापना कराई गई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें