यूपी विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव राजभर का निधन, योगी, अखिलेश ने शोक जताया

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Mon, 18th Oct 2021, 10:46 PM IST
  • उत्तर प्रदेश विधासभा के पूर्व अध्यक्ष और आजमगढ़ के दीदारगंज से बसपा विधायक सुखदेव राजभर का सोमवार को निधन हो गया. दिवंगत सुखदेव राजभर के निधन पर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू समेत अन्य राजनेताओं ने ट्वीट कर शोक व्यक्त किया.
यूपी विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव राजभर का सोमवार को निधन

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधासभा के पूर्व अध्यक्ष और आजमगढ़ से बहुजन समाज पार्टी के विधायक सुखदेव राजभर का सोमवार की शाम को निधन हो गया. दिवंगत सुखदेव राजभर पिछले कई दिनों से लगातार बीमार चल रहे थे. जो अपना इलाज लखनऊ के चंदन अस्पताल में करा रहे थे. सुखदेव राजभर के निधन पर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दुख व्यक्त किया.  अखिलेश यादव ने दिवंगत सुखदेव राजभर के निधन पर ट्वीट कर कहा कि यूपी विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष एवं वरिष्ठ राजनेता श्री सुखदेव राजभर जी का निधन अपूरणीय क्षति. शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना, दिवंगत आत्मा को शांति दे भगवान! 'सामाजिक न्याय' को समर्पित आप का राजनीतिक जीवन सदैव प्रेरणा देता रहेगा.

अखिलेश यादव के साथ ही यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सुखदेव राजभर के निधन पर शोक जताया है. सीएम योगी ने ट्वीट कर लिखा कि उत्तर प्रदेश विधान सभा के पूर्व अध्यक्ष एवं माननीय विधायक श्री सुखदेव राजभर जी का निधन अत्यंत दुःखद है. प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान व शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें. ॐ शांति!

बेमौसम बारिश में फसल बर्बाद, UP के किसानों को 2-2 लाख मुआवजा देगी योगी सरकार

यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने सुखदेव राजभर के निधन पर शोक जताते हुए लिखा कि पूर्व विधानसभा अध्यक्ष, विधायक श्री सुखदेव राजभर जी के निधन का समाचार दु:खद है. आप वंचित समाज के लिए समर्पित रहे, आपका जाना समाज के लिए अपूर्णीय क्षति है. परिवारजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें.

बता दें कि दिवंगत सुखदेव राजभर आजमगढ़ के दीदारगंज से बसपा विधायक थे. कुछ समय पहले उन्होंने अखिलेश यादव कि तारीफ किया था. उन्होंने अपने बेटे कमलाकांत की राजनीतिक यात्रा समाजवादी पार्टी के हवाले करने का भी ऐलान किया था. साथ ही उन्होंने इ खुला पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि मायावती की बसपा मिशन से भटकी हुई पार्टी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें