मायावती के बाद कौन होगा बसपा का उत्तराधिकारी, BSP सुप्रीमो ने दिया ये जवाब

Smart News Team, Last updated: Tue, 9th Nov 2021, 6:23 PM IST
  • लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते मायावती ने अपने बयान में मंगलवार को भाजपा व समाजवादी पार्टी पर तीखा प्रहार किया. उन्होंने बीजेपी व अन्य विपक्षी पार्टियों पर यूपी की जनता को बरगलाने का आरोप लगाया. इसके साथ ही मायावती ने उत्तराधिकारी को लेकर पूछे गए सवाल का भी जवाब दिया.
BSP उत्तराधिकारी पर बोली मायावती- अभी मैं स्वस्थ हूं, जब मैं काम नहीं कर पाऊंगी तब बताऊंगी (FILE PHOTO)

लखनऊ. यूपी चुनाव की सरगर्मियां तेज होते ही बसपा सुप्रीमो मायावती एक बार फिर फ्रंट में आ गई हैं. सियासी दलों के बीच वादों-दावों के साथ बयानी तीर चलाने का सिलसिला शुरू हो गया है. मायावती ने अपनी विरोधी पार्टियों को चुनौतियों देना शुरू कर दिया है. इस कड़ी में मंगलवार को लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते मायावती ने अपने बयान में भाजपा व समाजवादी पार्टी पर तीखा प्रहार किया. उन्होंने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ की तरह ही उनका अपना भी कोई परिवार नहीं है. दिखावा करने के लिए सन्यासी होने का चोला पहन लिया है लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया,हमने अपनी सरकार में सभी धर्म के लोगों को ज्यादा ध्यान दिया है,योगी जी ने एक धर्म के लोगों के कुछ विशेष जातियों का ध्यान रखा है. मायावती ने कहा कि सर्वसमाज ही उनका परिवार है.

बीएसपी के उत्तराधिकारी पर दिया ये बयान

आकाश आनंद के बीएसपी के उत्तराधिकारी के होने के सवाल पर कहा, 'अभी मैं स्वस्थ हूं, जब मैं काम नहीं कर पाऊंगी तब इस पर बताऊंगी. मायावती ने कहा, 2022 का चुनाव मेरे नेतृत्व में ही लड़ा जा रहा है. सबकी इच्छा है कि बहन जी पांचवी बार यूपी की मुख्यमंत्री बनें. बीएसपी किसी से भी चुनावी गठबंधन नहीं करेगी.

BSP सुप्रीमो मायावती का योगी सरकार पर हमला, UP में इस दिन फ्री राशन मिलना होगा बंद

कांग्रेस पर साधा निशाना

मायावती ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस पार्टी ने यूपी में लंबे कार्यकाल में 50 फीसदी भी वादे पूरे कर दिए होते तो कांग्रेस यूपी समेत देश के अधिकांश राज्यों में सत्ता से बाहर नहीं होती. कांग्रेस की कथनी और करनी में अंतर है. मायावती ने कहा, बीएसपी इस मामले में बातें बहुत कम और काम ज्यादा करने में विश्वास रखती है.

पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर बोलीं

उन्होंने कहा कि बीजेपी को अगर जनता के दुख दर्द की थोड़ी भी परवाह होती तो जिस कदर महंगाई बढ़ी है, जनता इन्हें भूलेगी नहीं. तेल की कीमतों पर कहा, हार के डर से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में थोड़ी कमी की है, लेकिन चुनाव बाद बीजेपी इसे भी वसूल कर लेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें