लखनऊ-कानपुर एक्‍सप्रेस-वे का शिलान्यास, नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह और सीएम योगी रहे मौजूद

Indrajeet kumar, Last updated: Wed, 5th Jan 2022, 5:12 PM IST
  • केन्द्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और सीएम योगी आदित्‍यनाथ लखनऊ-कानपुर एक्‍सप्रेस वे सहित 14,199 करोड़ की आठ बड़ी परियोजनाओं का शिलान्यास किया. खराब मौसम के वजह से नितिन गडकरी का विमान नहीं उतर पाया जिसके बाद उन्होंने वर्चुअल शिलान्यास किया. इस दौरान गडकरी ने योगी सरकार के काम की तारीफ भी की.
लखनऊ-कानपुर एक्‍सप्रेस-वे के शिलान्यास में शामिल नेतागण

लखनऊ-कानपुर एक्‍सप्रेस-वे का शिलान्यास, नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह और सीएम योगी रहे मौजूदलखनऊ. केन्द्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने लखनऊ-कानपुर एक्‍सप्रेस वे सहित 14,199 करोड़ की आठ बड़ी परियोजनाओं का शिलान्यास किया. खराब मौसम के कारण नितिन गडकरी का प्लेन चकेरी एयरपोर्ट पर नहीं उतार पाया जिसके बाद उन्होंने वर्चुअल शिलान्‍यास किया. अपने सम्बोधन के दौरान गडकरी मने यूपी के कानून व्यवस्था की तारीफ भी की. उन्होंने कहा कि यूपी बदल रहा है. शहरों की दूरियां कम करने के अपने अभियान के बारे में बताते हुए गडकरी ने अन्‍य सड़क परियोजनाओं के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी.

केन्द्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आगे बताते हुए कहा कि मुंबई और पुणे के बीच जिस तरह से यातायात की व्यवस्था हुई उसी तरह से कानपुर और लखनऊ के बीच यातायात की व्यवस्था होगी. उन्‍होंने कहा कि लखनऊ-कानपुर एक्‍सप्रेस वे के बनकर तैयार हो जाने के बाद लखनऊ से कानपुर की दूरी मात्र आधे घंटे तय की जा सकेगी. बिजली, पानी, परिवहन, दूरसंचार इनके बिना किसी भी राज्य का विकास नहीं हो सकता। उत्तर प्रदेश का विकास भी इसलिए नहीं हुआ था क्योंकि यहां इसके बारे में काफी गंभीर समस्याएं थीं। मैं घोषणा कर रहा कि हम उत्तर प्रदेश में 7 ग्रीन फील्ड एक्सेस कंट्रोल्ड एक्सप्रेस हाईवे बनाएंगे।

लखनऊ-कानपुर एक्‍सप्रेस-वे में क्या है खास

लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेसवे में 3D ऑटोमेटेड मशीन गाइडेंस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा. यह हाईवे के डेवलपमेंट के लिए 3D AMG टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने वाला भारत का पहला एक्सप्रेस-वे होगा. इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण का लक्ष्य 2023 तक रखा गया है. आने वाले सौ सालों में बढ़ने वाले ट्रैफिक लोड को देखते हुए इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जा रहा है. शहीद पथ से शुरू होकर बनी, कांठा व अमरसास को जोड़ने वाला एक्सप्रेस-वे कानपुर के निकट एनएच-27 के जंक्शन को जोड़ेगा.

कोरोना के चलते जनवरी में केंद्रीय कर्मचारियों के DA और DR में नहीं होगी बढोतरी?

4200 करोड़ की लागत से बनाने वाली इस एक्सप्रेस-वे की डिजाइन आठ लेन का तैयार किया जा रहा है. एक्सप्रेस-वे की सड़क छह लेन की होगी, लेकिन फ्लाईओवर के स्ट्रक्चर आठ लेन के होंगे. शहीद पथ लखनऊ से बनी तक सेंट्रल डिवाइडर पर सिंगल पिलर पर छह लेन एलीवेटेड रोड बनेगा, इसके बाद बनी से उन्नाव होते हुए आजाद चौराहा तक रोड 6 लेन होगी. एक्सप्रेस-वे को गंगा बैराज मार्ग,उन्नाव-लालगंज हाइवे और कानपुर में बनने वाले आउटर रिंग रोड से भी जोड़ा जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें