लखनऊ में बढ़ा ठगों का आतंक, निवेश एजेंट बनकर की लाखों की ठगी

Smart News Team, Last updated: Fri, 13th Nov 2020, 9:02 PM IST
  • लखनऊ में ठगों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. ठगों ने जहाँ एक व्यक्ति को रियल स्टेट का एजेंट बनकर करीब 9 लाख रुपए ठगे तो वही दूसरी तरफ लखनऊ के दो निवासियों को कॉल सेण्टर का अधिकारी बनकर सवा लाख रुपए साइबर ठगी की.
निवेश एजेंट बन ठगों ने 9 लाख रुपए ठग लिए

लखनऊ में निवेश के नाम पर धोखधड़ी के आरोप में शाइन सिटी के निदेशकों के खिलाफ गोमतीनगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है. थाने में मुकदमा दर्ज कराने वाले दिनेश मौर्या गोंडा के कूकनगर के रहने वाले है. उन्होंने मुकदमा दर्ज कराते समय बतया कि 2019 में विपुलखंड में स्थित शाइन सिटी के एक एजेंट ने उनको एक रियल एस्टेट कंपनी के तरफ से जमीन और ज्वेलरी स्कीम में निवेश करने के बारे में बताय था.

ठगी के शिकार हुए पीड़ित ने आगे बताया कि उन्होंने एजेंट के आग्रह के बाद कम्पनी के निदेशक आशिफ और रशीद से मुलाकात किया था. निदेशकों से मुलाकात के बाद उन्होंने उस कमोनी में 9 लाख 21 हजार रुपए का निवेश किया था. कंपनी में निवेश करने के बाद उन्हें आज तक एक रुपया मुनाफा नहीं मिला. इस पुरे मामले को एसपी ने गंभीरता से लेते हुए पीड़ित की शिकायत दर्ज कराइ और जाँच के आदेश दिए.

लखनऊ: कोरोना के चलते मजदूरों की दिवाली फीकी और बेरंग

कस्टमर केयर अधिकारी बन लूटा

लखनऊ में एक और ठगी का मामला समने आया. जिसमे एक ठग ने कस्टमर केयर अधिकारी बनकर फोन किया और दो लोगों से तकरीबन सवा लाख रुपए ठग लिए. साइबर ठगी से पीड़ित लोगों ने पीजीआइ थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराइ है. दोनों ही पीड़ित लखनऊ के रहने वाले है.

CM योगी ने कहा- कोरोना काल में सावधानी से मनाएं दीवाली और छठ पर्व

एक मामला हैवतमऊ मवैया का है. यहां के निवासी दिनेश कुमार ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते समय बताया कि उन्होंने 8 नवम्बर को गूगल सर्च के जरिए एमेजन प्राइम वीडियो का कस्टमर केयर नंबर खोजकर निकला और उसपर फ़ोन किया. जिसके बाद कस्टमर केयर कर्मी ने असुविधा को ठीक करने के लिए उनके मोबाइल पर एक लिंक भेजा. लिंक पर क्लीक करके जैसे ही उन्होंने उसे ओपन किया वैसे ही उन्हें बैंक खाते से दो बार करीब एक लक्ख रुपए कट गए. ऐसे ही दूसरे मांमले में वृन्दावन योजन कि निवासी के खाते से कस्टमर केयर अधिकारी बन कर ठगों ने उनके खाते से करीब 20 हजार रुपए निकाल लिए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें