लड़कियों को फंसाने के लिए खुद को बताया सैन्य अफसर, सेना की खुफिया इकाई ने दबोचा

Smart News Team, Last updated: Thu, 4th Mar 2021, 2:50 PM IST
सेना की खुफिया इकाई ने चारबाग स्टेशन से एक फर्जी अफसर को पकड़ा है. इस फर्जी व्यक्ति ने लड़कियों को फंसाने के लिए फेसबुक आईडी और वैवाहिक वेबसाइट पर खुद को सेना में अधिकारी बताया हुआ है. आरोपी के पास से पैरा कमांडो के बैज और कई फर्जी दस्तावेज मिले हैं.
सेना की खुफिया इकाई नहीं चारबाग स्टेशन से एक फर्जी सैन्य अफसर को पकड़ा है.

लखनऊ. लड़कियों को अपने जाल में फंसाने के लिए खुद को सेना में अफसर बताने वाले व्यक्ति को चारबाग स्टेशन से पकड़ा गया है. सेना की खुफिया इकाई और सेंट्रल मिलिट्री पुलिस ने वर्दी में घूम रहे इस जालसाज व्यक्ति को चारबाग स्टेशन के एमसीओ ऑफिस के सामने से गिरफ्तार किया है. व्यक्ति के पास पैरा कमांडो के बैज और कई फर्जी दस्तावेज मिले.

जानकारी के अनुसार आरोपी का नाम सौरभ सिंह है जो गौतम बुध नगर के सेक्टर 4 का रहने वाला है. गौरतलब है कि सौरभ ने सेना के अफसर की वर्दी के साथ पैरा कमांडो के बैज, सीने पर कई मेडल और लाल टोपी के साथ कंधे पर लेफ्टिनेंट के स्टार लगा रखे थे. चारबाग स्टेशन पर सेना की खुफिया इकाई की टीम का सामना सौरभ से हुआ. पूछने पर सौरव ने खुद को भारतीय सेना का अफसर बताया. लेकिन एनडीए बैज, यूनिट नंबर, अपने कमांडिंग ऑफिसर और यूनिट के लोकेशन की जानकारी दे नहीं दे पाया.

लकड़ी के अवैध कटान मामले में पूर्व IAS समेत 4 लोगों के खिलाफ CBI जांच के आदेश

शक होने पर खुफिया इकाई ने मिलिट्री पुलिस को भी पूछताछ के लिए बुलाया. इसके बाद उसके मोबाइल फोन और बैग की भी तलाशी ली गई. मोबाइल में उसकी सौरभ ठाकुर के नाम पर बनी फेसबुक आईडी मिली. आईडी में उसने खुद को पैरा स्पेशल फोर्स का कमांडो बताते हुए अपनी लोकेशन आगरा बताई हुई थी. इसके अलावा वैवाहिक वेबसाइट पर उसने खुद को आर्मी अफसर बताते हुए बायोडाटा भी अपलोड किया था. इसके क़तिरिक मध्य कमान की ओर से पैराशूट रेजीमेंट की डेल्टा टीम में 19 फरवरी 2021 तक ज्वाइन करने का एक फर्जी आदेश पत्र भी बनाया हुआ था.

कंडोम के गोदाम पर पुलिस और FSDA की संयुक्त छापेमारी, माल सील कर बिक्री पर रोक

इसके अलावा आरोपी सौरभ ने अदम्य साहस के लिए पैरा कमांडो को दिए जाने वाले वीरता पदक के फोटो भी तैयार की हुई है. उसमें जांबाज सिपाही की जगह अपनी फोटो को फोटो शॉप से बनाया हुआ है. इसके अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से खुद को मेडल प्राप्त करते हुए एक फर्जी फोटो भी तैयार की हुई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें