नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 12 आरोपियों को किया गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Thu, 15th Oct 2020, 5:50 PM IST
  • बेरोजगार युवक-युवतियों को नौकरी का झांसा देकर उनके रुपये से ऐश कर रहे 12 आरोपियों को महानगर पुलिस और एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया गया हैं. यह आरोपी फर्जी वेबसाइट बनाकर लोगों को लूटते थे.
दिल्ली और लखनऊ में पकड़े गए फेक वबसाईट बनाकर नौकरी देने वाले ठग

लखनऊ. नौकरी के नाम ठगी करने वाले गिरोह के 12 आरोपियों को महानगर पुलिस और एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है. यह गिरोह फर्जी वेबसाइट बनाकर बेरोजगार युवक-युवतियों को नौकरी देने का झांसा देकर उनसे पैसे ऐंठ रहा था.

पुलिस के मुताबिक पकड़े गए ठगों के पास तीन लैपटॉप, 19 मोबाइल, एक कार और भारी मात्रा में दस्तावेज बरामद किए गए हैं. यह गिरोह युवक-युवतियों से रजिस्ट्रेशन के नाम रुपये जमा कराने के लिए उनके क्रेडिट व डेबिट कार्ड की जानकारी हासिल करते थे उसके बाद उनके एकांउट से पैसे निकालकर उड़ाते थे.

नन्ही बेटी को गोद में लेकर ड्यूटी करने वाली IAS सौम्या का कानपुर देहात ट्रांसफर

यह मामला तब सामने आया जब रहीमनगर में रहने वाली शिवानी वारा ने केस दर्ज कराया. दरअसल शिवानी ने नौकरी के लिए शाइन डॉट कॉम में न नौकरी के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था. आवेदन के बाद उसको राधिका नाम युवती का फोन आया जिसने शिवानी को वॉट्पएप के जरिए कुछ राशि जमा करने को कहा. शिवानी ने राधिका द्वारा बताए गए लिंक पर पैसा जमा किया. धीरे-धीरे उसके खाते से लाखों रुपये उड़ गए, जिसके बाद शिवानी ने महानगर कोतवाली में केस दर्ज कराया.

महानगर पुलिस और एसटीएफ ने मामले की जांच की तब पता चला कि गाजियाबाद के राजनगर आरडीसी स्थित देविका चैम्बर के एक कॉल सेंटर में यह फर्जीवाड़ा चल रहा था. पुलिस ने दबिश की और लखनऊ और दिल्ली समेत गिरोह के 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. मामले की जांच अभी भी चल रही हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें