मुख्तार के गुर्गों ने गाड़ियां कराईं बुलेटप्रूफ, करीबियों के नाम पर रजिस्ट्रेशन

Smart News Team, Last updated: Mon, 28th Sep 2020, 9:33 AM IST
  • मुख्तार अंसारी के गुर्गों ने गैंगवार की दहशत में आकर अपनी गाड़ियों को चोरी-छुपे बुलेटप्रूफ करा लिया है. हाल ही में सुरेंद्र कालिया ने अपनी ही गाड़ी पर हमला कराया तब इस मामले का खुलासा हुआ. पुलिस ने पाया अधिकतर मुख्तार के गुर्गों ने गाड़ी करीबियों के नाम पर खरीदी है.
मुख्तार के गुर्गों ने गाड़ियां कराईं बुलेटप्रूफ, करीबियों के नाम पर रजिस्ट्रेशन

लखनऊ. मुख्तार अंसारी के गुर्गे दहशत में आ गए हैं और अपनी गाड़ियों को बुलेटप्रूफ कराने में जुटे हुए हैं. दो साल पहले बागपत जेल में मुख्तार गैंग के मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद से दो दर्जन से अधिक गुर्गों ने अपनी गाड़ियों को बुलेटप्रूफ करा लिया है. बिना कागजात के स्कार्पियो और फार्च्यूनर गाड़ियों को मेरठ और पंजाब में बुलेटप्रूफ कराया जा रहा है. मुख्तार गैंग के लोगों ने ये गाड़ियां अपने करीबियों के नाम पर खरीदी हैं.

गाड़ियों को बुलेटप्रूफ कराने का खुलासा हाल ही में सुरेंद्र कालिया के अपनी बुलेटप्रूफ गाड़ी पर हमला कराने और मुख्तार के करीबी माने जाने वाले प्रदीप सिंह के पास ऐसी गाड़ी बरामद होने के बाद हुआ था. दोनों के ही पास गाड़ियों को बुलेटप्रूफ कराने के कागज नहीं मिले.

लखनऊ के आलमबाग में 12 जुलाई को अजंता अस्पताल के बाहर हरदोई के हिस्ट्रीशीटर सुरेंद्र कालिया ने अपनी स्कार्पियो पर फायरिंग कराई थी. पुलिस ने जांच में पाया कि ये कालिया के दोस्त की गाड़ी है. वहीं गाड़ी को बुलेटप्रूफ कराने के कागज भी सुरेंद्र नहीं दे पाया था. 

UP में फर्जी शिक्षा बोर्ड्स का गोरखधंधा, लखनऊ में बंद तो प्रयागराज से शुरू

वहीं 22 सितंबर को मुख्तार के गिरोह के खिलाफ अभियान में रिटायर डिप्टी एसपी के बेटे प्रदीप के घर में बुलेटप्रूफ गाड़ी की चाभी मिली थी और यह गाड़ी भेनुमती अपार्टमेंट से बरामद हुई थी. इसी तरह मुख्तार के करीबी माने जाने वाले पूर्व विधायक के गुर्गे के पास भी बुलेटप्रूफ गाड़ी मिली है. 

रक्षक भाई ही बना हैवान, मां की शह पर 8 साल से छोटी बहन का कर रहा था रेप, अरेस्ट

पुलिस कमिशनर सुजीत पांडेय ने बताया कि अधिकतर बुलेटप्रूफ गाड़ियां मुख्तार अंसारी के गुर्गों के पास है. इस खुलासे के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. डीसीपी चारू निगम ने बताया कि मुख्तार अंसारी गिरोह को पकड़ने के दौरान भी बुलेटप्रूफ गाड़ियां मिली थीं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें