मुख्तार अंसारी की बढ़ी मुश्किलें, 1 करोड़ के फ्लैट के बाद लखनऊ में पेट्रोल पंप होगा कुर्क

Somya Sri, Last updated: Fri, 22nd Oct 2021, 12:24 PM IST
  • उत्तर प्रदेश के मऊ से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी आफ्शा अंसारी के नाम पर दर्ज लखनऊ में पेट्रोल पंप की जल्द ही कुर्की होगी. इसके लिए आजमगढ़ पुलिस की स्वाट टीम ने लखनऊ के डीएम से मुलाकात कर कुर्की की कार्रवाई तेज कर दी है. इससे पहले लखनऊ स्थित उनकी पत्नी के नाम पर एक फ्लैट कुर्क किया गया था.
मुख्तार अंसारी की बढ़ी मुश्किलें, 1 करोड़ के फ्लैट के बाद लखनऊ में पेट्रोल पंप होगा कुर्क

लखनऊ: बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है. एक के बाद एक यूपी सरकार उनकी संपत्ति को कुर्क कर रही है. खबर है कि लखनऊ स्थित उनके एक पेट्रोल पंप को कुर्क करने की तैयारी तेज कर दी गयी है. इसके लिए आजमगढ़ पुलिस की स्वाट टीम लखनऊ के डीएम से मुलाकात कर चुकी है. बताया जा रहा है कि कुर्की जब्तीकरण से पहले हुसैनगंज में 21 विधानसभा मार्ग स्थित प्लॉट नंबर एक पर करीब एक 900 वर्कशीट में पेट्रोल पंप बना हुआ है. इस जमीन का एक चौथाई हिस्सा मुख्तार अंसारी की पत्नी आयशा अंसारी के नाम पर है. जमीन पर दक्षिणी भाग में स्थित 2078 वर्ग फीट के हिंदुस्तान पेट्रोलियम के पेट्रोल पंप को भी सील किया जा सकता है.

हाल ही में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और उनकी पत्नी आफ्शा अंसारी की लखनऊ में संपत्ति के रिकॉर्ड नहीं मिल रहे हैं. एसपी आजमगढ़ ने लखनऊ जिला प्रशासन को पत्र लिखकर संपत्तियों को लेकर जानकारी मांगी थी. लेकिन जब संपत्तियों का रिकॉर्ड खंगाला गया तो प्रशासन को कोई भी दस्तावेज नहीं मिले थे. हुसैनगंज की जमीन के बारे में कब, किसने और कैसे आफ्शा के नाम यह संपत्ति आई इसका रिकॉर्ड आजमगढ़ एसपी ने मांगा था.

उमर खालिद के पिता और SP अध्यक्ष की मुलाकात पर CM योगी बोले- किसी भी हद तक जा सकते हैं विपक्षी

बता दें कि मऊ से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर जिला प्रशासन लगातार शिकंजा कस रहा है. बाहुबली मुख्तार अंसारी बांदा जेल में बंद हैं लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार लगातार मुख्तार की अवैध संपत्ति को जब्त करने का काम कर रही है. इससे पहले गैंगस्टर एक्ट के तहत उनकी पत्नी के नाम पर लखनऊ स्तिथ एक फ्लैट को कुर्क किया गया था. फ्लैट की कीमत 1 करोड बताई गई थी.

बता दें कि विधायक मुख्तार अंसारी के खिलाफ ईडी ने 1 जुलाई को मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुख्तार अंसारी पर एक सरकारी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा जमाने का आरोप है. रिपोर्ट की मानें तो मुख्तार अंसारी ने इस जमीन को एक निजी कंपनी को किराए पर दिया था. प्रति वर्ष के हिसाब से 1.7 करोड़ रुपए करीब 7 सालों के लिए किराए पर दिया गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें