सजा मिलने के 24 घंटे बाद बिगड़ी गायत्री प्रजापति की हालत, KGMU डॉक्टरो की देखरेख में होगा रीढ़ की हड्डी का इलाज

Haimendra Singh, Last updated: Sat, 13th Nov 2021, 2:34 PM IST
  • चित्रकूट गैंगरेप मामले में उम्र कैद की सजा सुनाए जाने के 24 घंटे बाद पूर्व सपा नेता गायत्री प्रजापति की जिला जेल में हालत बिगड़ गई. शनिवार की सुबह गायत्री ने रीढ की हड्डी में दर्द की शिकायत की, जिसके बाद जेल में ही उनका चेकअप किया गया.
चित्रकूट महिला गैंगरेप के मामले में उमकैद की सजा सुनाए जाने के 24 घंटे बाद बिगड़ी गात्रयी प्रजाप्रति की हालत. ( फाइल फोटो )

लखनऊ. चित्रकूट की महिला से गैंगरेप के मामले में उमकैद की सजा सुनाए जाने के एक दिन बाद ही सपा के पूर्व नेता गायत्री प्रजापति की तबीयत बिगड़ गई. सजा सुनाए जाने के बाद गायत्री प्रजापति शुक्रवार की रात को सो नहीं सके. शनिवार की सुबह गायत्री ने रीढ़ की हड्डी में दर्द की बात कही, जिसके बाद जेल के डॉक्टरों ने डायबटीज, ब्लड प्रेशर समेत अन्य परीक्षण किए हैं. गायत्री पहले से ही पेशाब, गुर्दा, डायबिटीज और रीढ़ की हड्डी में दर्द समेत की बीमारियों से ग्रसित हैं. किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के डॉक्टरों के देखरेख में उनका इलाज किया जा रहा है. बता दें कि चित्रकुट मामले में एमपी-एमएल कोर्ट ने शुक्रवार को गायत्री प्रजापति और उनके दो साथियों अशोक तिवारी और आशीष शुक्ला को उम्रकैद की सजा सुनाई थी.

शुक्रवार को एमपी-एमएल कोर्ट ने गायत्री प्रजापति सहित उनके दो साथियों अशोक तिवारी और आशीष शुक्ला को भी उमकैद की सजा सुनाई. शुक्रवार की देर जेल पहुंचे गायत्री की रात को रीढ की हड्डी में दर्द की शिकायत बताई, जिसके बाद डायबटीज, ब्लड प्रेशर समेत अन्य परीक्षण किए गए. जेलर अजय राय के मुताबिक गायत्री को कई बीमारियां हैं. कोर्ट एवं केजीएमयू के डॉक्टरों की सलाह पर गायत्री को जेल अस्पताल में भर्ती किया गया है. जिसके चलते गायत्री की सुरक्षा कड़ी की गई है. केजीएमयू के डॉ्क्टरों के अलावा जिला जेल डॉक्टरों भी उनकी हालत पर नजर रखे हुए है.

कौन जीत रहा यूपी विधानसभा चुनाव 2022? तीन सर्वे के रिजल्ट से तस्वीर साफ

क्या है चित्रकुट गैंगरेप मामला

2014 में एक नाबालिग ने आरोप लगाया था कि गायत्री के आवास पर उसके साथ गैंगरेप किया गया. इस मामले में  18 फरवरी, 2017 को थाना गौतमपल्ली (लखनऊ) में गैंगरेप, जान से मारने की धमकी और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. इस केस में 7 लोगों को आरोपी बनाया गया था जिसमें से चार आरोपियों को कोर्ट ने निर्दोष माना. वही कोर्ट ने सपा नेता गायत्री प्रजापति, अशोक तिवारी और आशीष शुक्ला को उम्रकैद की सजा सुनाई, कोर्ट ने सभी पर दो-दो लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें