छत पर फ्री में लगवाएं सोलर पैनल, 20 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली, ऐसे करें आवेदन

Atul Gupta, Last updated: Tue, 7th Dec 2021, 2:48 PM IST
  • सरकार की तरफ से सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना Solar Rooftop Yojana शुरू की गई है जिसके तहत सोलर पैनल लगवाने वालों को भारी डिस्काउंट दिया जा रहा है. स्कीम का लाभ उठाने के लिए ऐसे करें अप्लाई
सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना (फाइल फोटो)

Solar Rooftop Yojana देश में उर्जा की खपत लगातार बढ़ती जा रही है लेकिन ऊर्जा की सीमित मात्रा के चलते ये महंगी भी है. ऐसे में जरूरत है ऐसी ऊर्जा की जो कम से कम लागत में लंबे समय तक ऊर्जा प्रदान कर सके. इसका एक आसान विकल्प है सोलर पैनल जो एक बार लग जाए तो आपको सालों साल तक बिजली के बिल से राहत मिल सकती है. यही नहीं, सोलर पैनल लगाने में सरकार भी मदद करती है. भारत सरकार सोलर पैनल को प्रोत्साहित करने के लिए सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना Solar Rooftop Yojana लेकर आई है जिसके तहत सरकार अक्षय ऊर्जा को प्रोत्साहित करने के लिए उपभोक्ताओं को रूफटॉफ इंस्टालेशन पर सब्सिडी देती है.

अगर आपने अपनी छत पर सोलर रूफटॉप लगवा लिया तो आपको कम से कम 20 साल तक मुफ्त बिजली मिलेगी. सोलर रूफटॉप लगवाने के बाद आप बिजली खर्च को 30 से 50 फीसदी तक कम किया जा सकता है. यानी आप अगले 5-6 सालों में सोलर रूफटॉप का खर्च निकाल सकते हैं और बाकी के 20 साल मुफ्त बिजली का आनंद उठा सकते हैं.

सोलर पैनल लगाने के लिए बहुत ज्यादा जगह की भी जरूरत नहीं होती. एक किलो वॉट सौर उर्जा के लिए दस वर्गमीटर जगह की जरूरत होती है. केंद्र सरकार की तरफ से 3 केवी तक के सोलर रूफटॉप प्लांट पर पर करीब चालीस फीसदी और 10 केवी तक के प्लांट पर 20 फीसदी की सब्सिडी दी जाती है. अधिक जानकारी के लिए आप निकटतम बिजली ऑफिस में जा सकते हैं और अधिक जानकारी के लिए mnre.gov.in पर भी जा सकते हैं.

ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

- सोलर रूफटॉप के ऑनलाइन आवेदन करने के लिए solarrooftop.gov.in पर जाएं.

- अब होम पेज पर 'सौर छत' के लिए अप्लाई बटन पर क्लिक करें.

- इसके बाद खुले पेज पर आपको अपने राज्य के लिंक पर क्लिक करना होगा.

- अब आपके सामने एक अलग विंडो में सोलर रूफ आवेदन का पेज खुल जाएगा.

- इसमें सभी जरूरी जानकारियां भरकर आवेदन को सब्मिट कर दें.

- इस तरह से आप सोलर रूफटॉप योजना में आवेदन की प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें