UP में ड्राइवर, कंडक्टर की कोरोना से मौत पर परिवार को मिलेगी 50-50 लाख की मदद

Smart News Team, Last updated: Sun, 16th May 2021, 7:45 AM IST
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने रोडवेज के ड्राइवर कंडक्टर संविदा कर्मचारी आउटसोर्स कर्मचारी की ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण से मौत होने पर उनके परिजनों को 50 लाख रुपए एकमुश्त देने का आदेश जारी किया है.
यूपी के ड्राइवर और कंडक्टर की कोरोना से मौत होने पर उनके परिवार के सदस्य को पचास लाख रुपये की मदद दी जायेगी. (प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ : रोडवेज में बस चलाने वाले ड्राइवर कंडक्टर व अन्य सभी कर्मचारियों की ड्यूटी के दौरान कोविड-19 से मौत होने पर प्रदेश सरकार उनके परिवार के किसी सदस्य को 50 लाख रुपए देकर मदद करने का निर्णय लिया है. प्रदेश के कई रोडवेज संगठनों ने प्रदेश सरकार से लेकर परिवहन निगम के बड़े अधिकारियों को पत्र लिखकर मांग किया था कि कोरोना से संक्रमित होकर मरने वाले बस कर्मचारियों के परिजन को आर्थिक सहायता दी जाए.

जिस पर उत्तर प्रदेश की सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए परिवहन निगम के आउटसोर्स कर्मियों, संविदा कर्मचारी और प्रतिदिन कार्यरत कर्मचारियों की मौत होने पर उनके आश्रय पर रहने वाले परिजन को 50 लाख रुपए एकमुश्त देने को कहा है. जिसको लेकर प्रदेश के परिवहन निगम के अपर प्रबंध निदेशक अन्नपूर्णा गर्ग ने सभी के लिए एक आदेश भी जारी कर दिया है. प्रदेश में फैलते कोरोना संक्रमण के बीच कई रोडवेज बस कर्मचारियों ने दूसरे प्रदेश से आए लोगों को उनके घर पर छोड़ा है. 

योगी आदित्यनाथ सरकार का फैसला- यूपी में 24 मई तक बढ़ाया गया कोरोना लॉकडाउन

इस दौरान कई बस कर्मचारी संक्रमित होकर दम भी तोड़ है. उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के हेड मैनेजर डीबी सिंह के अनुसार प्रदेश में अब तक रोडवेज के करीब 50 से अधिक कर्मचारी ड्यूटी के दौरान मरे हैं. यह मौत का आंकड़ा और भी अधिक हो सकता है. इसके लिए डीबी सिंह ने राज्य के सभी रोडवेज कर्मचारियों की जानकारी को इकट्ठा कर रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें