गुलाबो सिताबो फिल्म की अभिनेत्री फारूक जफर का राजधानी में निधन, कर चुकी 1 दर्जन फिल्मों में काम

Shubham Bajpai, Last updated: Sat, 16th Oct 2021, 11:40 AM IST
  • लखनऊ की वरिष्ठ अभिनेत्री फारूख जफर का लंबी बीमार के बाद शुक्रवार रात निधन हो गया. 1981 में फिल्मी दुनिया में कदम रखने वाली फारूख ने उमराव जान, स्वदेश, सुल्तान और गुलाबो सिताबो समेत कई फिल्मों में दमदार अभिनय किया.
गुलाबो सिताबो फिल्म की अभिनेत्री फारूक जफर का राजधानी में निधन, कर चुकी 1 दर्जन फिल्मों में काम

लखनऊ. सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के साथ गुलाबो सिताबो में स्क्रीन शेयर कर चुकी राजधानी की वरिष्ठ अभिनेत्री फारूख जफर का 88 साल की उम्र में निधन हो गया. फारूख काफी समय से बीमार चल रही थीं. जिसके चलते उन्हें सहारा अस्पताल में भर्ती कराया था. जहां उनके सीने में इंफेक्शन का इलाज चल रहा था. 1981 में अपना फिल्मी करियर की शुरुआत करने वाली फारूख ने कई फिल्मों में अभिनय किया है.

रेडियो स्टेशन में बतौर अनाउंसर हुई थी शुरुआत

फारूख जफर ने फिल्मों में आने से पहले विविध भारती रेडियो स्टेशन में बतौर अनाउंसर अपनी शुरुआत की थी. वहीं, कई लोगों का कहना है कि वह भारत की पहली महिला रेडियो अनाउंसर थी. इसके बाद उन्होंने एनएसडी से अभिनय की बारीकियां सीखीं और फिल्मों में अभिनय की शुरुआत की.

किसानों को कृषि यंत्र में मिलने वाले अनुदान पर जालसाजों की नजर, पोर्टल हैक कर आवेदन किये

रेखा से लेकर अमिताभ के साथ किया काम

फारूख ने पहली फिल्म 1981 में उमराव जान की, इस फिल्म में इन्होंने रेखा के किरदार अमीरन उर्फ उमराव जान की मां का रोल अदा किया था. इसके बाद कई फिल्मों में काम करने के बाद उन्होंने फिल्मी दुनिया से दूरी बना ली. 23 साल बाद शाहरुख खान की स्वदेश से उन्होंने फिर फिल्मों में वापसी की, इसमें उन्होंने फातिमा बी का रोल निभाया था. साथ ही इन्होंने पीपली लाइव, पार्चड जैसी क्लासिक फिल्मों में भी दमदार अभिनय कर अपनी अलग पहचान बनाने का काम किया.

लखीमपुर खीरी हिंसा: आरोपी अंकित दास के फ्लैट से पुलिस ने जब्त की पिस्टल व रिपिटेड गन

बॉलीवुड के तीनों खान के साथ कर चुकी काम

फारूख बॉलीवुड के तीनों खान शाहरुख, सलमान और अमिर खान के साथ काम कर चुकी हैं. अमिर की पीपली लाइव, सलमान की सुल्तान और शाहरुख की स्वदेश के साथ अमिताभ बच्चन की गुलाबो सिताबो में उनके किरदार की काफी सराहना भी हुई. इनके पति एक स्वतंत्रता सेनानी और पत्रकार थे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें