हाथरस केस: CM योगी की गृह सचिव, DGP, ADG समेत कई अधिकारियों के साथ हाईलेवल मीटिंग

Smart News Team, Last updated: 03/10/2020 08:14 PM IST
  • हाथरस गैंगरेप मामले में विपक्ष के विरोध के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले को लेकर मीटिंग कर रहे हैं. इस मीटिंग में डीजीपी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार, अपर मुख्य गृह सचिव और अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल भी मौजूद हैं.
हाथरस मामले को लेकर सीएम योगी अपर गृह सचिव समेत कई अधिकारियों के साथ मीटिंग कर रहे है.

लखनऊ. हाथरस गैंगरेप मामले में पीड़िता के मौत और परिजनों के बिना आधी रात को दाह संस्कार के बाद पूरे देश में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस मामले को लेकर अधिकारियों के साथ मीटिंग कर रहे हैं. इस बैठक में डीजीपी एचसी अवस्थी, एडीजी लाॅ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार, अपर मुख्य गृह सचिव अवनीश अवस्थी और अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल भी मौजूद हैं.

इससे पहले अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी और डीजीपी हितेष चंद अवस्थी पीड़िता के परिवार से मिलने गए थे. जिसके बाद उन्होंने कहा था कि एसआईटी पूरे मामले की जांच कर रहा है. एसआईटी की पहली रिपोर्ट पर एसपी सहित पांच पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है. अवनीश अवस्थी ने कहा कि इस मामले में मुख्यमंत्री बहुत गंभीर हैं. फाइनल रिपोर्ट आने पर दोषी किसी भी कीमत पर नहीं बचेंगे.

हाथरस कांड पर योगी सरकार का एक्शन, एसपी, DSP, इंस्पेक्टर सस्पेंड, DM बचे

हाल ही में सीएम योगी ने इस मामले को लेकर रिपोर्ट मांगी थी. जिसके बाद मुख्यमंत्री ने इस मामले में कार्रवाई कर रहे कई अधिकारियों को सस्पेंड भी कर दिया था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एसपी, डीएसपी और इंस्पेक्टर के साथ कई पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है. 

हाथरस कांड पर सीएम योगी ने तोड़ी चुप्पी, कहा- दोषियों का समूल नाश सुनिश्चित

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया था कि हाथरस केस की जांच कर रही एसआईटी इस केस से जुड़े सभी लोगों का नारको टेस्ट और पॉलीग्राफ टेस्ट कराएगी. पीड़िता और आरोपी के परिवार के साथ पुलिस का भी नार्को टेस्ट किया जाएगा. आपको बता दें कि हाथरस मामले में विपक्ष योगी सरकार पर जमकर निशाना साध रही है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें