हाथरस गैंगरेप केस: जांच कर रही SIT को मिले और 10 दिन, आज नहीं सौंपेंगे रिपोर्ट

Smart News Team, Last updated: 07/10/2020 09:52 AM IST
  • हाथरस गैंगरेप केस की जांच कर रही एसआईटी को और 10 दिन मिल गए हैं. इस केस की रिपोर्ट आज नहीं सौंपी जाएगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद ये निर्णय लिया गया है. 
हाथरस गैंगरेप पीड़िता के घर पर एसआईटी की टीम मृतक लड़की के परिजनों से बात करती हुई.

लखनऊ. हाथरस गैंगरेप केस में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशों के बाद अब केस की जांच कर रही एसआईटी अपनी रिपोर्ट 10 दिन बाद सौंपेंगी. विशेष जांच दल (एसआईटी) को सीएम को अपनी रिपोर्ट आज देनी थी. इस रिपोर्ट को देने का समय 10 दिन बढ़ा दिया गया है. इस बारे में गृह विभाग, राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव, अवनीश के अवस्थी ने कहा कि सीएम योगी के आदेश के बाद एसआईटी अपनी रिपोर्ट 10 दिन बाद देगी. एसआईटी को इसके लिए और 10 दिन का समय दिया जा रहा है. 

हाथरस मामले की जांच कर रही एसआईटी की टीम को जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए 10 और दिन की मोहलत मिली है. पहले आए आदेश के अनुसार ये रिपोर्ट आज दाखिल करनी थी. गौरतलब हो की तीन सदस्यीय एसआईटी टीम केस की जांच में जुटी है. एसआईटी में इस टीम में यूपी के गृह सचिव भगवान स्वरूप, डीजीपी चंद्रप्रकाश और एक पुलिस अफसर पूनम शामिल हैं. उन्होंने पीड़िता के परिवार से बात की थी. 

बेटी संग लापता महिला की खोज जारी, पति से अलग किसी और नंबर पर करे थे सैकड़ों फोन

साथ ही पीड़िता के गांव, जिस खेत में उसपर हमला हुआ था वहां और दाह संस्कार वाली जगह का दौरा किया था. टीम के साथ एक फॉरेंसिक एक्सपर्ट भी थे. केस की जांच कर रही एसआईटी और फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने खेतों का परीक्षण किया. इस केस में पुलिस और यूपी सरकार पर भी सवाल उठे हैं. पुलिस ने लड़की का अंतिम संस्कार किया जिसके बाद परिजनों ने कहा कि उनकी इसमें अनुमति नहीं थी.

मंत्री स्वाति सिंह ने नायब तहसीलदार को कहा गुंडा, सोशल मीडिया पर‌ वीडियो वायरल

इसी के बाद बढ़े बवाल ने राजनीतिक मोड़ ले लिया और विपक्ष ने सीएम योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की भी मांग की. बढ़ते बवाल को देखते हुए सीएम योगी ने मामले में सख्ती के आदेश दिए. साथ ही इसकी गाज कई अधिकारियों पर भी गिरी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें