ये उत्तर प्रदेश है! अमित शाह के दावों की लुटेरों ने दो घंटे में खोल दी पोल

Nawab Ali, Last updated: Sat, 30th Oct 2021, 1:11 PM IST
  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार की पीठ थप-थपाते हुए बयान दिया था कि आज 16 साल की बच्ची भी गहने लादकर रात 12 बजे भी यूपी की सड़कों पर चल सकती है. लेकिन अमित शाह के इस दावे के दो घंटे बाद ही बाइक सवार बदमाशों ने बैंक से पैसे निकालकर लौट रही महिला से 18 हजार लूट लिए.
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह. फाइल फोटो

खनऊ. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को यूपी विधानसभा चुनाव से पहले सदस्यता अभियान की शुरुआत की है. अमित शाह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि आज 16 साल की बच्ची भी गहने लेकर रात 12 बजे भी यूपी की सड़कों पर चल सकती है. लेकिन अमित शाह के इस बयान की लुटेरों ने दो घंटे में ही पोल खोल दी है. जौनपुर में एक महिला आवास के लिए स्वीकृत 18 हजार रूपये बैंक से निकाल कर ला रही थी, इसी दौरान बाइक सवार बदमाश महिला से पैसा लूट फरार हो गए. अमित शाह के इस बयान पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर तंज कसा है.

यूपी कांग्रेस ने महिला से लूट की घटना का जिक्र करते हुए ट्वीटर पर लिखा है कि Hello अमित शाह जी कल ही आप कह रहे थे कि अब उत्तर प्रदेश में 16 साल की लड़की भी गहने लादकर रात को 12 बजे भी सड़कों पर निकल सकती है अब योगी जी को फोन लगाकर हाल - चाल ले लीजिए. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कल उत्तर प्रदेश में सभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार की कानून व्यवस्था की जमकर तारीफ की थी. लेकिन अमित शाह की इस तारीफ को चुनौती देते हुए बदमाशों ने दो घंटे बाद ही के महिला को लूट का शिकार बना लिया.बैंक से पैसे निकालकर लौट रही महिला से बदमाशों ने 18 हजार लूट लिए. यूपी की कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष की तमाम राजनीतिक पार्टियां भी योगी आदित्यनाथ सरकार आलोचना करतेरहे हैं.

योगी सरकार ने शुरू की आरोग्य योजना, श्रमिकों को मिलेगा 5 लाख तक मुफ्त इलाज और दुर्घटना बीमा

यूपी की कानून व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री योगी की पीठ थपथपाने पर अमित शाह सोशल मीडिया पर लोगों एक निशाने पर हैं. लोगों ने भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बेबी रानी मौर्या के उस बयान को भी याद दिलाया जिसमें उन्होंने कहा था कि शाम पांच बजे के बाद महिलाएं चौकी-थानों में जाएं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें