Video: मान्यता पाने को अस्पताल का गंदा खेल, मजदूरों को जबरन मरीज बनाया, फिर...

Smart News Team, Last updated: Tue, 8th Feb 2022, 11:07 PM IST
  • राजधानी लखनऊ में एक अस्पताल ने मान्यता के लिए मजदूरों को जबरन नकली मरीज बनाकर एडमिट कर लिया और उनका फर्जी इलाज भी शुरू कर दिया. ऐसा करने से मजदूर भड़क गए और उनमें से एक शख्स किसी तरह भागकर पुलिस के पास पहुंच गया.
फोटो- प्रताड़ित मजदूर

लखनऊ. मान्यता पाने के लिए लखनऊ के एक अस्पताल ने ऐसा कांड किया जिसके बारे में सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे. मान्यता के लिए एमसी सक्सेना मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पताल ने पहले पांच सौ रुपये का लालच देकर मजदूरों को बंधक बनाया, फिर उन्हें इलाज के लिए बेड पर लिटा दिया. ग्लूकोज लगाने के लिए जैसे ही वीगो हाथ में लगाने की कोशिश की तो मजदूर भड़क गए और हंगामा शुरू कर दिया. इसी दौरान किसी तरह एक मजदूर स्वास्थ्य कर्मचारियों को चकमा देकर भाग निकला और उसने पुलिस को सूचना दी.

मिली जानकारी के अनुसार, अंशु कुमार पुत्र सीताराम निवासी सीतापुर ने ठाकुरगंज के प्रभारी निरीक्षक को लिखित शिकायत देते हुए कहा कि एमसी सक्सेना ग्रुप ऑफ कॉलेज में स्थित आरआर सिन्हा हॉस्पिटल जो थाना ठाकुरगंज में अवस्थित है, उसके कुछ कर्मचारी लेबर अड्डे पर आए और 500 रुपये दिहाड़ी का बोलकर काम के बहाने अस्पताल ले गए. जहां करीब 120 मजदूरों को विगो लगाया गया और उन्हें इंजेक्शन भी दिए गए जबकि उन मजदूरों को कोई बीमारी नहीं थी .

एक नहीं, दो नहीं, महिला ने दिया 4 बच्चों को जन्म, लोग बोले- भगवान का...

पुलिस ने मजदूर की शिकायत पर तुरंत एक्शन लिया और स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ वहां पहुंचकर अन्य मजदूरों को आजाद कराया. पुलिस ने इस संबंध में अस्पताल के डॉक्टर शेखर सक्सेना को गिरफ्तार कर लिया है. अस्पताल व कर्मचारियों पर धारा 324, 327, 328, 342, 384, 420, 467, 468, 471, 505 के तहत केस किया गया है. मामले की जांच की जा रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें