छात्रवृत्ति योजना के लिए अब 50 प्रतिशत अंक नहीं हैं जरूरी, जानिए कैसे करें आवेदन

Ruchi Sharma, Last updated: Tue, 7th Dec 2021, 10:42 AM IST
  • छात्र व छात्राओं की छात्रवृत्ति योजना के लिए अब 50 फीसद की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है. अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना से संबंधित छात्र-छात्राएं 15 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. वह इसके लिए पात्र होंगे.
छात्रवृत्ति योजना के लिए 50 फीसदी अंकों की अनिवार्यता खत्म

लखनऊ. अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना के लिए आवेदन करने वाले छात्रों के लिए खुशखबरी है. केंद्र सरकार ने अल्पसंख्यक वर्ग मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध, पारसी एवं जैन समुदाय के छात्र व छात्राओं की छात्रवृत्ति के लिए अब 50 फीसद की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है. इस फैसले से छात्र- छात्राओं को बढ़ी राहत मिली है. अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना से संबंधित छात्र-छात्राएं 15 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. वह इसके लिए पात्र होंगे.

जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी जगमोहन सिंह के मुताबिक प्री मैट्रिक यानी कक्षा एक से दसवीं तक व पोस्ट मैट्रिक कक्षा यानी दसवीं कक्षा के उपर के छात्र छात्राओं को इसके तहत छात्रवृत्ति सरकार की ओर से प्रदान की जाती है. इसमें पहले पहले वही छात्र-छात्राएं ऑनलाइन आवेदन कर सकते थे जिनका 50 फीसद अंक रहता था लेकिन अब यह यह प्रतिबंध खत्म कर दिया गया है. वहीं इसके साथ छात्रवृत्ति प्रक्रियाओं की समय सीमा बढ़ा दी है और अब 15 दिसंबर तक संबंधित पात्र अभ्यर्थी इसका लाभ उठा सकते हैं.

Bihar Police constable परीक्षा का रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक

 

जानिए कैसे करें ऑनलाइन आवेदन

- केंद्रीय अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति वेबसाइट http://scholarships.gov.in में National Scholarship Portal (NSP 2.0) पर जाकर आवेदन कर सकते हैं.

- उसके पश्चात सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अपलोड करने होंगे.

- छात्र को एक सिस्टम जेनरेटेड रजिस्ट्रेशन नंबर प्रदान किया जाएगा.

- इस रजिस्ट्रेशन नंबर को छात्र द्वारा अपनी एप्लीकेशन से संबंधित अन्य जानकारी प्राप्त करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.

- छात्र को आवेदन पत्र में जानकारी दर्ज करने से पहले अपने कॉलेज व संस्थान से सभी जानकारी चेक करनी होगी.

- इसके पश्चात छात्र द्वारा प्रदान की गई सभी जानकारी का सत्यापन नोडल विभाग द्वारा किया जाएगा.

- सभी चिन्हित किए गए छात्रों की जानकारी पी एफ एम एस एवं MHA को प्रदान की जाएगी.

- इसके पश्चात स्कॉलरशिप की राशि की गणना की जाएगी.

- स्कॉलरशिप की राशि की गणना के पश्चात राशि छात्र के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से वितरित कर दी जाएगी.

इसके साथ ही जिन छात्र-छात्राओं द्वारा जो खाता आवेदन करने में उपलब्ध कराया गया है वह खाता अपने आधार से तत्काल लिंक करवा लें. यदि जिन छात्रों का खाता आधार से लिंक नहीं होता है तो भारत सरकार द्वारा छात्रवृत्ति से लाभान्वित नहीं किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें