अवैध निर्माण ध्वस्त करने के दौरान पोकलैंड और ड्राइवर मलबे में फंसे, देखें वीडियो

Smart News Team, Last updated: Sun, 4th Jul 2021, 2:30 PM IST
  • रविवार को बसपा के पूर्व सांसद दाऊद अहमद के अवैध निर्माण को गिरा दिया गया. इस दौरान पोकलैंड और पोकलैंड का ड्राइवर मलबे के अंदर फंस गए. कई जेसीबी की मदद से ड्राइवर को बाहर निकाल लिया गया है. जिसके बाद उसे ट्रॉमा सेंटर भेजा गया है.
दबी पोकलैंड को निकालती जेसीबी

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में बसपा के पूर्व सांसद दाऊद अहमद के अवैध निर्माण को एलडीए ने धरासाई कर दिया है. लेकिन इस दौरान मलबे के अंदर पोकलैंड और पोकलैंड का ड्राइवर फंस गए. जिसके बाद कई जेसीबी को रेस्क्यू ऑपरेशन में लगाया गया. जिससे ड्राइवर को बाहर निकाल लिया गया और इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भेजा गया है. नीचे दिए गए वीडियो में देख सकते है कि कैसे बिल्डिंग गिरने के दौरान ड्राइवर और पोकलैंड इमारत के मलबे में फंस गए. यह सात मंजिला इमारत संरक्षित स्मारक रेजीडेंसी के पास प्रतिबंधित इलाके में खड़ी की गई थी. रविवार को पुरातत्व विभाग ने एलडीए के साथ मिलकर इसे गिरवा दिया है.

गौरतलब है कि पूर्व सांसद दाऊद अहमद ने रिवर बैंक कॉलोनी में सात मंजिला अवैध इमारत का निर्माण कराया है. इस निर्माण को बंद कराने के लिए दाऊद को कई नोटिस भेजी गई. लेकिन उन्होंने निर्माण कार्य बंद नहीं कराया. इस निर्माण को लेकर भारतीय पुरातत्व विभाग ने लगातार विरोध किया. जिसके बाद अब कार्रवाई करते हुए पुरातत्व विभाग ने एलडीए के साथ मिलकर पूरी बिल्डिंग ढहा दिया है.

पूर्व सांसद दाऊद अहमद के अवैध निर्माण पर चला बुलडोजर, एलडीए ने शुरु की कार्रवाई

बता दें कि इस अवैध निर्माण को लेकर भारतीय पुरातत्व विभाग घोर आपत्ति जता चुका है. जिसके बाद दाऊद अहमद हाईकोर्ट पहुंच गए थे. लेकिन वहाँ से उन्हें कोई राहत नहीं मिली. साथ ही नोटिस के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने पर बिल्डिंग के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरु की गई. रविवार को यह सात मंजिला इमारत पूरी तरह से ध्वस्त कर दी गई है. इस दौरान मलबे में फंसे पोकलैंड और ड्राइवर को भी जेसीबी की मदद से निकाल लिया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें