लखनऊ: बिजली विभाग ने उपभोक्ताओं को दी राहत, बिजली कटवाना-जुड़वाना हुआ सस्ता

Smart News Team, Last updated: 22/11/2020 06:21 PM IST
बिजली विभाग ने उपभोक्ताओं को राहत देते हुए बिजली जुड़वाने और कटवाने के शुल्क में काफी कमी कर दी है. जिसके कारण लखनऊ के लोगों को यह दर काफी सस्ती पड़ेगी.
(प्रतिकात्मक फोटो)

लखनऊ: शहर में अब बिजली विभाग ने लोगों के बिजली लगवाने और जुड़वाने पर पड़ने वाले चार्ज को कम कर दिया गया है. इस क्रम में बिजली विभाग ने बताया है कि पांच किलोवाट तक के भार वाले मीटर पर 100 रुपये लगेगा. जिसमें से 50 रुपये बिजली लगवाने और 50 रुपये बिजली कटवाने के होंगे. वहीं, पहले इसी काम के 600 रुपये लिए जाते थे. जिसमें से 300 रुपये बिजली लगवाई और 300 बिजली कटवाई वाले हुआ करते थे. इसपर विद्युत नियामक आयोग ने बताया कि यह व्यवस्था 20 नवंबर से लागू कर दी गई है.

सरकारी टीचर ने महिला शिक्षक की गोली मार हत्या की, प्रेम-प्रसंग का मामला

इसी के साथ मध्यांचल विद्युत वितरण निगम के निदेशक वाणिज्य ब्रह्म पाल ने बताया था कि जिनके मीटर का लोड पांच किलोवाट से अधिक है और बकाया जमा नहीं कर रहे हैं तो उन्हें मात्र 200 रुपये देने होंगे. जिसमें 100 रुपये बिजली जोड़ने और 100 रुपये बिजली कटवाई के लिए होंगे. उन्होंने अपनी बातों को विस्तार देते हुए कहा कि मध्यांचल निगम ने कुल 3.75 लाख स्मार्ट मीटर लगवाए हैं. जिसमें से अधिकतर लखनऊ में 3.25 लाख स्मार्ट लगे हैं.

भर्ती के दौरान लाखों आवेदनों से मिल सकेगी मुक्ति

इनके अतिरिक्त बिजली विभाग के अभियंताओं ने बताया कि जिन उपभोक्ताओं के बिजली का बिल पांच हजार रुपये से अधिक होता है, सिर्फ उनकी ही बिजली की सप्लाई रोक दी जाती है. अब पहले की तरह बिजली काटने और जोड़ने के लिए कर्मचारी को लोगों के घरों पर नहीं भेजना पड़ता है. बल्कि स्मार्ट मीटर के उपयोग होने पर सिर्फ कंप्यूटर से कमांड देकर ही बिजली बंद की जा सकती है. बिजली सप्लाई न होने पर भी बिजली मीटर तक तो पहुंचेगी, लेकिन बिल न जमा करने के कारण उसका उपभोग नहीं किया जा सकेगा. इसी के चलते बिजली काटने और जुड़वाने के शुल्क में कटौती कर दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें