प्रतापगढ़ में बारातियों से भरी बोलेरो खड़े ट्रक से टकराई, 6 बच्चों समेत 14 की मौत

Smart News Team, Last updated: 20/11/2020 11:05 AM IST
  • प्रतापगढ़ में शादी समारोह में वापस लौट रही एक एसयूवी और ट्रक के बीच टक्कर में 14 लोगों की जान चली गई है. मृतकों में 6 बच्चे भी शामिल हैं.
प्रतापगढ़ में बारातियों से भरी बोलेरो खड़े ट्रक से टकराई, 14 की मौत

प्रतापगढ़: उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में बारातियों से भरी बोलेरो गुरुवार देर रात खड़े ट्रक में पीछे से घुस गई. हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में पुरुष, महिलाएं और बच्चे शामिल हैं. आधी रात बाद हुई इस घटना से अधिकारियों में हड़कंप मच गया. हादसे की जानकारी मिलते ही एसपी अनुराग आर्य मौके पर पहुंचे. बता दें कि कुंडा थाना क्षेत्र के चौंसा जिरगापुर निवासी संतलाल यादव के बेटे सुनील यादव की गुरुवार को शादी थी. बारात नवाबगंज थाना क्षेत्र के शेखपुर में गई थी. वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद देर रात बच्चों समेत 14 लोग बोलेरो से कुंडा स्थित गांव लौट रहे थे.

मानिकपुर थाना क्षेत्र में देशराज का इनारा के पास तेज रफ्तार बोलेरो सड़क पर खड़े ट्रक में पीछे से घुस गई. इसके बाद चारों तरफ चीख पुकार मच गई. हादसा इतना भयावह था कि मौके पर पहुंचे लोगों के पास जाने की भी हिम्मत नहीं हुई. इस दौरान वहां से गुजरे लोगों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद बोलेरो से शवों को बाहर निकाला और कुंडा सीएचसी पहुंचाया. उधर, हादसे की सूचना गांव में पहुंची तो वहां कोहराम मच गया. शादी समारोह में भी मातम छा गया.

सैन्य कोर्ट ने दिया आदेश, पूर्व सैनिक के बेटे का इलाज कराए सेना

गुरुवार देर रात प्रतापगढ़ में हुए हादसे के दौरान छह बच्चों समेत 14 लोगों की मौत पर सीएम योगी ने दुख जताया है. मुख्यमंत्री कार्यालय के अनुसार सीएम योगी ने वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए हैं. सीएम योगी ने अफसरों से पीड़ितों को हर संभव सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं.

पशुपालन फर्जीवाड़ा: हैड कांस्टेबिल दिलबहार भगौड़ा घोषित, 50 हजार का इनाम

हादसे में इनकी गई जान:-

दिनेश कुमार(40), पवन कुमार(10), दयाराम (40), अमन (7), रामसमुझ (40), अंश (9), गौरव कुमार (10), नान भैया (55), सचिन (12), हिमांशु (12), मिथिलेश कुमार (17), अभिमन्यु (28), पारसनाथ (40), चालक बबलू (22)

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें