कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से पीड़ितों के लिए अलग वार्ड

Smart News Team, Last updated: Fri, 25th Dec 2020, 12:25 PM IST
  • ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन मिलने के बाद प्रदेश में भी इस नए प्रकार के संक्रमण को फैसले से रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं. प्रदेश की सभी कोविड-19 लैब को इसके लिए अलर्ट कर दिया गया है.
फाइल फोटो.

लखनऊ: ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण के एक और नए स्ट्रेन मिलने से लोगों में एक बार फिर से भय का माहौल पैदा हो गया है. ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन मिलने के बाद प्रदेश में भी इस नए प्रकार के संक्रमण को फैसले से रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं. यूपी में 9 दिसंबर के बाद ब्रिटेन से लौटने वाले हर व्यक्ति को अनिवार्य रुप से कोरोना टेस्ट कराना होगा.

अगर व्यक्ति टेस्ट में पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे कोविड अस्पताल में अलग वार्ड में भर्ती किया जाएगा. साथ ही संक्रमित व्यक्ति के सैंपल की जींस सीक्वेंसिंग कराकर यह देखा जाएगा कि वह नए स्ट्रेन से संक्रमित है या नहीं. प्रदेश की सभी कोविड लैब को इसके लिए अलर्ट कर दिया गया है.

इस बार लखनऊ के साथ नोएडा में भी होगा 'उत्तर प्रदेश दिवस' का आयोजन

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने गुरुवार को जानकारी देते हुए बताया कि ब्रिटेन से लौटे लोग मेरा कोविड केंद्र एप, जिले के इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर एंड कंट्रोल रूप और सीएमओ कार्यालय से संपर्क कर सकते है. उन्हें अनिवार्य रूप से कोविड की जांच करानी होगी. अगर जांच निगेटिव आती है तब भी उन्हें कम से कम 7 दिन होम क्वारंटाइन में रहना होगा. वहीं अन्य यूरोपिय देशों से आए लोगों को सलाह दी गई है कि उनमें अगर कोरोना के लक्षण दिखें तो वह तत्काल अपनी जांच कराएं.

दिल्ली से बागडोगरा जा रहे इंडिगो विमान की लखनऊ में इमरजेंसी लैंडिग

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें