छत्तीसगढ़ में हलचल के बीच कांग्रेस ने यूपी चुनाव के लिए CM भूपेश बघेल को दी अहम जिम्मेदारी

Ankul Kaushik, Last updated: Sat, 2nd Oct 2021, 6:59 PM IST
  • छत्तीसगढ़ की उठापटक के बीच उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए कांग्रेस ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को AICC के वरिष्ठ पर्यवेक्षक के रूप में नियुक्त करने का फैसला लिया है. इस बात की जानकारी खुद सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट करके दी है.
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (फाइल फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को AICC के वरिष्ठ पर्यवेक्षक के रूप में कांग्रेस ने नियुक्त किया है. इस बात की जानकारी खुद सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट करके दी है. सीएम बघेल ने ट्वीट करके लिखा- माननीय राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी जी ने उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए मुझे पर्यवेक्षक होने का निर्देश दिया है. बड़ी ज़िम्मेदारी है और पूरा प्रयास रहेगा कि शीर्ष नेतृत्व की उम्मीदों पर खरा उतर सकूं. परिवर्तन का संकल्प, कांग्रेस ही विकल्प. भूपेश बघेल ने इससे पहले असम विधानसभा चुनावों में अपनी टीम के साथ पार्टी कार्यकर्ताओं के व्यापक बूथ प्रशिक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. हालांकि असम में वह पार्टी के लिए कुछ खास नहीं कर पाए थे लेकिन देखना ये है कि यूपी में कांग्रेस का यह दाव कितना असरदार साबित होगा.

बघेल कांग्रेस के काफी प्रभावी नेता रहे और वह हिंदी भाषी प्रदेश से भी ताल्लुक रखते हैं. इसलिए कांग्रेस ने फिर से उन पर भरोसा जताया है कि उन्हें जनसभाएं करने का अनुभव भी है. अब देखना ये है कि बघेल कांग्रेस को अपनी खोई हुई यूपी की सियासत दिलाने में कितना प्रभावकारी बनेंगे. क्योंकि छत्तीसगढ़ में डॉ रमन सिंह के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार को प्रदेश से बाहर का रास्ता दिखाने में भूपेश बघेल की अहम भमिका थी. भूपेश बघेल की वजह से ही कांग्रेस ने बीजेपी को हराकर प्रदेश में सरकार बनाई थी.

पांच दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचेंगी प्रियंका गांधी, यूपी चुनाव को लेकर तैयार होगा रोडमैप

बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की कमान कांग्रेस महासचिव व यूपी चुनाव प्रभारी प्रियंका गांधी के हाथों में है. इस चुनाव के लिए कांग्रेस प्रतिज्ञा यात्रा निकालेगी जो गांवों और शहरों से होकर गुजरेगी. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इस चुनाव के लिए संगठन को मजबूत करने के लिए सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं को निर्देश दे दिए हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें