सोनू सूद की बढ़ी मुश्किलें, आयकर विभाग ने 20 करोड़ से ज्यादा की टैक्स चोरी का किया दावा

Somya Sri, Last updated: Sat, 18th Sep 2021, 4:47 PM IST
  • आईटी विभाग ने दावा किया है कि सोनू सूद और उनके सहयोगियों ने 20 करोड़ से ज्यादा रुपए की टैक्स चोरी की है. आईटी विभाग ने कहा कि अभिनेता के परिसरों की तलाशी के दौरान टैक्स चोरी से संबंधित कई आपत्तिजनक सबूत मिले हैं. 
बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (फाइल फोटो)

लखनऊ: बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद की मुश्किलें बढ़ती हुई दिख रही है. सोनू सूद के घर पिछले 2 दिनों से आयकर विभाग का ऑपरेशन चल रहा था. लेकिन, आज यानी शनिवार को आईटी विभाग की टीम ने सोनू सूद को लेकर एक बड़ा दावा किया है. आईटी विभाग ने दावा किया है कि सोनू सूद और उनके सहयोगियों ने 20 करोड़ से ज्यादा रुपए की टैक्स चोरी की है. मालूम हो कि पिछले 2 दिनों में अभिनेता सोनू सूद के मुंबई, जयपुर, लखनऊ, कानपुर, दिल्ली और गुरुग्राम में उनकी कुल 28 परिसरों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की थी.

जानकारी के मुताबिक केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड यानी सीबीडीटी ने कहा कि अभिनेता सोनू सूद और उनके सहयोगियों ने मिलकर फर्जी संस्थाओं से फर्जी और असुरक्षित लोन्स के रूप में बेहिसाब पैसा जमा किए थे. सीबीडीटी ने कहा कि सोनू सूद के परिसरों की तलाशी के दौरान टैक्स चोरी से संबंधित कई आपत्तिजनक सबूत मिले हैं.

यूपी चुनाव: राजभर और AIMIM प्रमुख ओवैसी की लखनऊ में बैठक, भागीदारी संकल्प मोर्चा के लिए बनेगी रणनीति

आयकर विभाग का कहना है कि सोनू सूद चैरिटी फाउंडेशन में सोनू सूद को 1 अप्रैल 2021 से अबतक 18.94 करोड़ रुपये डोनेशन मिला है. जिसमें से उन्होंने करीब 1.9 करोड़ रुपये खर्च किये हैं. जबकि बाकि बचे 17 करोड़ रुपये अभी तक बैंक अकाउंट में है जिसका आज तक कोई इस्तेमाल नहीं हुआ है. आयकर विभाग ने अपने बयान में कहा कि चैरिटी फाउंडेशन द्वारा क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म पर विदेशी डोनर से करीब 2.1 करोड रुपए की राशि जुटाई गई है. जो कि एफसीआरए यानी विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम के नियमों का उल्लंघन है.

वहीं सूत्रों के अनुसार छापेमारी के वक्त आयकर विभाग को कई फर्जी बिलिंग और फर्जी लोन से जुड़े दस्तावेज प्राप्त हुए हैं. सूत्रों के मुताबिक सोनू सूद ने झूठे खर्च दिखाकर टैक्स में छूट पाई है. वहीं सूत्रों के मुताबिक सोनू सूद ने कई अलग-अलग अकाउंट से पैसे भी मंगवाए हैं. जिसका सीधा फायदा सोनू सूद को मिला है. फिलहाल इनकम टैक्स डिपार्टमेंट छापेमारी के दौरान प्राप्त सभी दस्तावेजों की जांच कर रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें