कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच 18.22 लाख अभ्यार्थी UPTET परीक्षा देने पहुंचे

Komal Sultaniya, Last updated: Mon, 24th Jan 2022, 9:22 AM IST
  • कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2021 रविवार को यूपी के 75 जिलों में 18 लाख से अधिक अभ्यर्थी अपने उज्ज्वल भविष्य के लिए परीक्षा देने पहुंचे. और यह परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हुई. प्रश्नपत्र की उत्तर 27 फरवरी को वेबसाइट पर जारी होगी और अभ्यर्थियों से एक फरवरी तक ऑनलाइन आपत्तियां ली जाएंगी.
कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच 18.22 लाख अभ्यार्थी UPTET परीक्षा देने पहुंचे

कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2021 रविवार को यूपी के 75 जिलों में 18 लाख से अधिक अभ्यर्थी अपने उज्ज्वल भविष्य के लिए परीक्षा देने पहुंचे. और यह परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हुई. प्रश्नपत्र की उत्तर 27 फरवरी को वेबसाइट पर जारी होगी और अभ्यर्थियों से एक फरवरी तक ऑनलाइन आपत्तियां ली जाएंगी.

सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी के अनुसार, रविवार सुबह 10 से 12:30 बजे की पहली पाली में प्राथमिक स्तर के लिए 2532 केंद्रों पर आयोजित परीक्षा में पंजीकृत 12,91,627 अभ्यर्थियों में से 10,73,302 (83.09%) उपस्थित हुए. उच्च प्राथमिक स्तर के लिए 2:30 से 5 बजे की दूसरी पाली में 1733 केंद्रों पर पंजीकृत 8,73,552 अभ्यर्थियों में से 7,48,810 (85.72%) उपस्थित हुए.

UPTET Exam: कड़ी सुरक्षा के बीच यूपी टीईटी परीक्षा आज, 21.65 लाख अभ्यर्थी होंगे शामिल

दोनों पालियों में पंजीकृत कुल 21,65,179 अभ्यर्थियों में से 18,22,112 (84.15%) परीक्षा में शामिल हुए. कुल 3,43,067 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे. 28 नवंबर को पेपर लीक के कारण परीक्षा निरस्त होने से परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से लेकर शासन तक के अफसरों की सांसें अटकी थी. सुबह 10 बजे जब सभी 2532 केंद्रों पर सकुशल पेपर खुलकर परीक्षा शुरू हो गई तब जाकर अफसरों ने राहत की सांस ली.

परीक्षा नियामक की ओर से भी पल-पल की खबर शासन को भेजी जाती रही. परीक्षा सकुशल संपन्न कराने के लिए 1,62,511 कक्ष निरीक्षक, 8530 पर्यवेक्षक, 1423 सचल दल लगाए गए थे. सहयोग के लिए 5814 तृतीय व 14059 चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की सहायता ली गई.

UPTET 2021-22: परीक्षार्थियों के लिए सिटी बसों में मुफ्त यात्रा, सुविधा आज से

रविवार को आयोजित यूपीटीईटी 2021 में अधिकांश प्रश्न पिछले सालों 2016, 2017 व 2018 की परीक्षा से थे. अभ्यर्थियों का दावा है कि 150 में से लगभग 130 प्रश्न रिपीट हुए. जैसे हिंदी, अंग्रेजी, गणित और पर्यावरण के अधिकांश प्रश्न 2017 के पेपर से जबकि बाल विकास के प्रश्न 2016 के पेपर से पूछे गए थे. 

यूपीटीईटी की आपाधापी में कोरोना गाइडलाइन धड़ाम हो गई. परीक्षा केंद्रों पर प्रवेश के समय सोशल डिस्टेंसिंग धड़ाम हो गई. धक्कामुक्की की स्थिति देखने को मिल. बसों में भी सामाजिक दूरी का पालन नहीं कराया जा सका. हालांकि अधिकारियों का दावा है कि केंद्र पर समुचित इंतजाम किए गए थे. कोरोना के लक्षण वाले अभ्यर्थियों के लिए अलग से कोरोना कक्ष, कोविड हेल्पडेस्क, मास्क, सेनिटाइजर, थर्मल स्कैनर आदि की व्यवस्था की गई थी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें