शबनम को फांसी देने की तैयारी कर रहे पवन जल्लाद को बस मिलते हैं इतने रुपये

Smart News Team, Last updated: 18/02/2021 08:13 PM IST
  • निर्भया कांड के दोषियों को फांसी देने वाले पवन जल्लाद की सैलरी साढ़े सात हजार रुपए है. पवन जल्लाद ने कहा कि अब समय आ गया कि उनके वेतन को बढ़ाया जाना चाहिए. यूपी के रामपुर जेल में बंद शबनम को पवन जल्लाद फांसी देंगे.
अमरोहा की रामपुर जेल में बंद शबनम को मथुरा जेल में पवन जल्लाद फांसी देंगे.

लखनऊ. यूपी सरकार अमरोहा में बंद शबनम को फांसी देने की तैयारी कर रही है. आजाद भारत में पहली बार किसी महिला को फांसी दी जाएगी. निर्भया कांड के दोषियों को फांसी देने वाले पवन जल्लाद शबनम को फांसी देंगे. अपराधियों को फांसी देने वाले पवन जल्लाद की वेतन 7 हजार 500 रुपए है. पवन जल्लाद ने कहा कि उनकी वेतन को बढ़ाया जाना चाहिए.

निर्भया कांड के दोषियों को सजा देने वाले पवन जल्लाद ने कहा कि मेरे परिवार में सात बच्चे हैं जिनको मुझे पालना होता है लेकिन मुझे सिर्फ 7 हजार 500 रुपए मिलते हैं. फांसी देने पर बहुत कम मेहनताना मिलता है. उन्होंने कहा, अब समय आ गया है  कि सैलरी को बढ़ाया जाना चाहिए.

आजाद भारत में पहली बार एक महिला को फांसी देने की तैयारी में जुटी यूपी सरकार

पवन जल्लाद ने कहा कि वो अपनी विरासत से पीछे नहीं हटे हैं. उन्होंने ही निर्भया गैंगरेप और हत्या के दोषियों को फांसी पर लटकाया था. पवन जल्लाद ने कहा कि मुझे मेरे दादा कल्लू राम ने टेनिंग दी है. जिन्होंने खूंखार अपराधी रंगा और बिल्ला को फांसी पर लटकाया था. इसके अलावा उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या करने वाले दोषियों को भी फांसी दी थी.

पवन जल्लाद शबनम को देगा फांसी, UP के महिला फांसीघर में पहली बार दोषी औरत को सजा

2008 में शबनम ने अपने परिवार के सात सदस्यों को बेहोश करके अपने प्रेमी के साथ मिलकर कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी थी. हाईकोर्ट से लेकर कई अदालतों ने फांसी पर मुहर लगा दी है. राष्ट्रपति ने भी उसकी दया याचिका खारिज कर दी है. इस बारे में पवन जल्लाद ने कहा कि पुरूष और महिलाओं को फांसी देने में कोई अंतर नहीं है. उन्होंने कहा कि वे लगभग 1 साल पहले मथुरा जेल गए थे. इसकी जो कमियां थीं मथुरा के जेल अधिकारियों को बताईं थी. जिसके बाद बिहार के बक्सर जेल से रस्सी के लिए ऑर्डर दिया गया था.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें