इंटरसिटी और पैसेंजर ट्रेनें चलाने का फैसला राज्य सरकारों पर: भारतीय रेलवे बोर्ड

Smart News Team, Last updated: Fri, 4th Jun 2021, 11:30 PM IST
  • भारतयी रेलवे बोर्ड की चेयरमैन और सीईओ ने बताया कि इंटरसिटी और पैसेंजर ट्रेनें चलाने को लेकर फैसला राज्य सरकारें लेंगी. सुनीता शर्मा ने लखनऊ मण्डल के रेल अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बात करते हुए कही.
राज्य सरकारें लेंगी पैसेंजर और इंटरसिटी चलाने का फैसला.

लखनऊ. कोविड-19 की दूसरी लहर लगभग अपनी अंत की ओर चल रहा है. अलग-अलग राज्यों में चल रहे लॉकडॉन और कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को को देखते हुए कुछ ट्रेनों को छोड़ सभी रेल को रद्द रखा गया है. जिसके कारण लोगों को यातायत में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. अब जब कोरोना संक्रमण के मामलों में लागतार कमी आ रही है. इसको देखते हुए रेलवे बोर्ड के चेयरमैन और सीईओ सुनीत शर्मा ने बोला है कि राज्य सरकारों से आदेश मिलने पर इंटरसिटी और पैसेंजर ट्रेनें फिर से चलाने का फैसला लिया है. 

सुनीता शर्मा ने बताया है कि जिन रूट पर ज्यादा यात्री होगें पहले उन रूटों पर रेल को शुरू किया जाएगा. यह बात सुनीत शर्मा ने लखनऊ मण्डल के रेल अधिकारियों के साथ विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बात करते हुए कही.

बोर्ड के दिशा निर्देश आने के बाद रेलवे ने आने वाले समय में रेल को चलाने की तैयारी जोरों शोरों से कर रही है. पहले देश में ठप पड़ी औधायोगिक गतिविधियों को बढ़ाने के लिए रेलवे यूपी से बिहार के बीच ट्रेनों को चलाने की तैयारी में जुटी हुई है. उसके बाद मुंबई और बाकी राज्यों के बीच रेल सेवा को पुनः बहाल किया जाएगा. 

यूपी-बिहार के लोगों को राहत! 6 जून से चलेंगी ये समर स्पेशल ट्रेनें, फुल डिटेल्स

एक ताजा आंकड़े के अनुसार मुंबई और पुणे जानें वाली ट्रेनों में ज्यादा भीड़ दिख रही है. टिकट आरक्षण के हिसाब से मुबई जानें वाली एलटीटी एक्सप्रेस और पुष्पक एक्सप्रेस में सभी श्रेणी के सीट बुक हैं. लखनऊ से बांद्रा, गोरखपुर से पनवेल, गोरखपुर से मुंबई जानें वाली ट्रेनों में आरक्षण वेटिंग में हो रहें हैं.

पहले 10 ट्रेनें - सीतापुर गोरखपुर इंटरसिटी, गोमती नगर छपरा कचेहरी, लखनऊ गोरखपुर इंटरसिटी, काठगोदाम, झांसी आगरा इंटरसिटी चलाई जाएगी. साथ में लखनऊ से बरौनी और जबलपुर व गोरखपुर से आनंद बिहार की ट्रेनें शामिल है. 

छोटे बच्चों के अभिभावकों के कोरोना वैक्सीनेशन की है विशेष व्यवस्था: CM योगी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें