रेलवे ने फिर शुरू की MST, लखनऊ का सफर करने से पहले जान लें यह नियम

Smart News Team, Last updated: Tue, 7th Sep 2021, 11:58 PM IST
  • भारतीय रेलवे ने एक बार फिर मासिक सीजन टिकट (MST) की शेष यात्रा की वैद्यता तो बढ़ा दी है. इस वैद्यता के बढ़ने के बावजूद बाराबंकी से लखनऊ के बीच रोजाना सफर करने वाले यात्री टिकट की कीमत चुकाकर यात्रा कर रहे हैं.
रेलवे ने फिर शुरू की MST.

लखनऊ. भारतीय रेलवे ने अपने नए नियम के तहत मार्च 2020 से लागू हुए संपूर्ण लॉक डाउन में निरस्त ट्रेनों की मासिक सीजन टिकट (MST) की शेष यात्रा की वैद्यता बढ़ा दी है लेकिन फिर भी बाराबंकी से लखनऊ के बीच रोजाना यात्रा करने वाले यात्री वैध MST रखने के बावजूद भी टिकट की कीमत चुकाकर यात्रा कर रहे हैं. इसके आलावा रेलवे के इस नए नियम ने एक ही शहर में महज 80 मीटर की दूरी पर स्थित दो स्टेशन से गुजरने वाले समान दूरी और समान किराए वाले ट्रेनों के यात्रियों को अपने अलग अलग नियमों (दोनों स्टेशन के लिए अलग अलग नियम) से दुविधा में डाल दिया है.

डेढ़ साल से बंद पड़े ट्रेनों का MST लिए धारक ट्रेन की यात्रा का लाभ नहीं ले पाए थे. लेकिन अब जब रेलवे ने नए नियम के तहत रोजाना सफर करने वाले MST धारक यात्रियों की वैधता बढ़ा दी है तब भी हजारो यात्री इसका लाभ नही ले पा रहे हैं.

पहले MST पैसेंजर और एक्सप्रेस श्रेणी के लिए बनती थी. और इसके जरिए रोजाना सफर करने वाले यात्री किसी भी ट्रेन से अपनी यात्रा करते थे. पुष्पक एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में MST धारक यात्री स्लीपर और एसी बोगियों की सीटों पर सफर का आनंद लेते थे. लेकिन रेलवे ने अपने हाल के नए नियमों के तहत MST धारक यात्रियों को उसी ट्रेन में यात्रा करने का मौका देगी जिस ट्रेन के लिए अनुमति मिली है मतलब MST धारक यात्री अपने मन मर्जी से किसी ट्रेन में सफर नहीं कर पाएंगें. 

UP मिशन 2022 के लिए कांग्रेस ने तय किए 40 से ज्यादा प्रत्याशी, प्रियंका करेंगी लखनऊ का दौरा

दूसरी तरफ रेलवे ने पिछले साल मार्च में लॉक डाउन के कारण निरस्त हुई ट्रेनों के रोजाना सफर करने वाले यात्रियों की शेष यात्रा की MST वैद्यता को बढ़ायी है. इसके तहत लखनऊ - फैजाबाद पैसेंजर और लखनऊ - कानपुर मेमू में रोजाना सफर करने वाले यात्रियों की शेष बची यात्रा इस बढ़े MST वैधता की वजय से हो सकेगी. 

यूपी के जेलों से जल्द बाहर आएंगे सालों से बंद 97 कैदी, सुप्रीम कोर्ट ने दी जमानत

बाराबंकी से लखनऊ के बीच सफर करने वाले करीब तीन हजार दैनिक यात्रियों ने अपनी MST की वैद्यता को बढ़वा लिया है, लेकिन दुविधा यह है कि उन्होंने अपनी पिछली MST लखनऊ जंक्शन से बाराबंकी के लिए बनवायी थी. पहले इस लखनऊ जंक्शन से बाराबंकी रूट पर एक्सप्रेस, पैसेंजर और मेमू ट्रेन की सुविधा अधिक थी लेकिन अब कोई ट्रेन ही नहीं है. जिसकी MST जारी करवायी जाए.इन दिनों बाराबंकी से लखनऊ रोजाना सफर करने वाले यात्री केवल फैजाबाद-लखनऊ पैसेंजर से हीं यात्रा कर पा रहे हैं और इसके लिए उनको 185 रुपए कीमत चुकाकर MST बनवानी पड़ रही है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें