मजदूरों के लिए शुरू 8433 हेल्पडेस्क, कोरोना संक्रमित होने पर मिलेगी दवा और ऑक्सीजन

Smart News Team, Last updated: Tue, 11th May 2021, 3:01 PM IST
  • औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने आद्योगिक फैक्ट्रियों में काम करने वाले मजदूरों के लिए 8433 हेल्पडेस्क शुरू किया है. साथ ही उनके लिए दवा से लेकर ऑक्सीजन तक की व्यवस्था की गई है.
मजदूरों के लिए शुरू 8433 हेल्पडेस्क कोरोना संक्रमित होने पर मिलेगी दवा और ऑक्सीजन

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना मरिओज लगातार बढ़ते ही जा है. जिसको रोकने के ली सरकार ने प्रदेश में लॉकडाउन भी लगा दिया है, लेकिन ऐसे में भी औद्योगिग इकाइयां पहले की तरह ही चलाई जा रही है. ऐसे में वहां काम करने वाले मजदुर भी कोरोना से संक्रमित हो सकते है. साथ ही अभी कई मजदूर कोविड के शिकार हो चुके है. जिसे देखते हुए मंगलवार को मजदूरों के ले कोरोना 8433 हेल्पडेस्क शुरू किया है. जिसे औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने शुरू किया है.

मजदूरों के लिए शुरू की गई  8433 हेल्पडेस्क को सभी औद्योगिक 52 जिलों में शुरू किया गया है. इन 52 जिलों में कुल 154 औद्योगिक क्षेत्र इस कोरोना कर्फु में भी कार्यरत है. जहां पर सैकड़ो मजदूर रोज काम करते है. जिनके लिए ही इस हेल्पडेस्क की शुरुआत की गई है. औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने इस हेल्पडेस्क को शुरू करने के समय बताया कि कार्यरत आद्योगिक इकाइयों में कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए परिसर में रोजाना श्रमिकों कि जांच की जाती है.

मां से सिगरेट पीने की शिकायत करने पर किशोर ने की नाबालिग की बेरहमी से हत्या

वही इसके बारे में आगे यूपीसीडा के सीईओ मयूर माहेश्वरी ने बताय कि श्रमिकों के लिए दवाइयों के साथ ऑक्सीजन कि व्यवस्था की गई है. इसके साथ ही सीएसआर फंड से 281 मेडिकल कंसन्ट्रेटर , 3065 आक्सीजन सिलेंडर, 9 आक्सीजन जनरेटर, 8500 सर्जिकल मास्क,2745 पीपीई किट, 492 वेंटीलेटर बेड व अन्य सामान की व्यवस्था को पूरा किया जा चूका है. साथ ही सभी उद्यमियों की मदद अमेठी, आगरा, मथुरा, फिरोजबाद, कानपुर देहात, फतेहपुर, उन्नाव, हरदोई, मेरठ, सहारनपुर, रामपुर, गाजियाबाद आदि जिलों में किया जा रहा है.

यूपी में कोरोना का आंकड़ा झूठा, जनता सच अपनी आंखों से देख रही है :अखिलेश यादव

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें