होम आइसोलेट कोरोना मरीजों और मृतकों को नहीं मिला रहा बिमा क्लेम, इंश्योरेंस कंपनी ने किया मना

Smart News Team, Last updated: Sun, 23rd May 2021, 10:22 AM IST
  • होम आइसोलेशन के कोरोना मरीजों और मृतकों को इंश्योरेंस कंपनियां बिमा क्लेम नहीं दे रही है. वहीं वह होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों को बिमा क्लेम देने से मना भी कर रही है.
होम आइसोलेट कोरोना मरीजों और मृतकों को बिमा क्लेम नहीं दे रही इंश्योरेंस कंपनी

लखनऊ. होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों और मृतक के परिजनों को के सामने अब एक और समस्या सामने आ खड़ी है. वहीं यह समस्या लोगों को मेडिकल इंश्योरेंस को लेकर देखने को मिल रही है. वही इंश्योरेंस कंपनियां उन्हें बीमा क्लेम देने से मना कर रही है. जिसको लेकर लोगों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है. वहीं जानकारी के अनुसार एलआईसी में पिछले महीने करीब 550 बीमा क्लेम हुए है. जिसमे से अधिकांश का क्लेम मृत्यु प्रमाण पत्र और मेडिकल सर्टिफिकेट नहीं होने के कारण अटके हुए है. 

वही लखनऊ में अभी तक कोरोना संक्रमण से करीब 5 हजार लोगों की जान जा चुकी है. जिसमे से कई की मौते होम आइसोलेशन में भी हुई है. जिसको लेकर मृतक के परिजन इंश्योरेंस कंपनियों के पास गए तो उन्होंने बीमा क्लेम देने से मना कर दिया. साथ ही इलाज का खर्च भी देने से मना कर दिया. जिसको लेकर अभी तक ऐसे कई मामले सामने आ चुके है. वही इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा बीमा क्लेम नहीं देने पर लोग बीमा एजेंट से लेकर कंपनी का चक्कर काट रहे है.

भाई की दवाई लेने जा रहे युवक की यूपी पुलिस ने डंडों से कर दी पिटाई, जानें मामला

क्लेम के लिए यहां से ले मदद

यदि किसी को बीमा क्लेम करने में कोई दिक्कत आ रही हो तो याचिकाकर्ता www.licindia.com पर सभी जानकारी ले सकता है. साथ ही यहां पर वह बीमा खरीदने से लेकर लोन के एप्लिकेशन तक आवेदन कर सकता है. साथ ही वह यहां पर लोन रीपेमेंट भी कर सकता है. वही एलआईसी के ग्राहकों को एनआईएफटी की भी सुविधा दी गई है. 

मुख्यमंत्री का खास बताकर सरकारी अधिकारियों से लूट करने वाले गिरोह का भंडाफोड़

वही बीमा क्लेम को लेकर लखनऊ एलआईसी के मंडल प्रबंधक राजवीर सिंह का कहना है कि इसके लिए लोगों को मेडिकल सर्टिफिकेट और मृत्यु प्रमाण पत्र के साथ आवेदन करना होगा. साथ ही कहा कि होम आइसोलेशन के दौरान मेडिकल क्लेम मुश्किल है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें