IPL 2022 की नई अहमदाबाद टीम मालिक पर BCCI का एक्शन, लखनऊ टीम मालिक भी चौकन्ने

Indrajeet kumar, Last updated: Tue, 16th Nov 2021, 11:01 AM IST
  • बीसीसीआई ने आईपीएल सीजन 15 यानि IPL 2022 के लिए 2 नई टीमों की घोषणा कर दी है. IPL अहमदाबाद की टीम ने नीलामी के ठीक अगले दिन ही CVC CAPITAL PARTNERS के बेटिंग कंपनियों में निवेश के खुलासे के बाद BCCI ने जांच शुरू कर दी है. जिसके बाद IPL लखनऊ टीम के मालिक भी चौकने हो गए हैं.
मुश्किल में IPL अहमदाबाद टीम के मालिक, BCCI ने लिया एक्शन

लखनऊ. आईपीएल के सीजन 15 के लिए बीसीसीआई ने 2 नई टीमों के शामिल होने का ऐलान कर दिया है. जिसके लिए पिछले महीने BCCI ऑक्शन का आयोजन हुआ था. इस नीलामी में दो 2 नई फ्रैंचाइजी टीम अहमदाबाद और लखनऊ मिली. वहीं BCCI अब भी अहमदाबाद टीम का मालिकाना हक रखने वाली फर्म सीवीसी कैपिटल के बिजनेस लिंक्स की जांच में जुटी है. मिली जानकारी के मुताबिक CVC SPORTS’को BCCI की तरफ से अब तक लेटर ऑफ इंटेंट नहीं दिया गया है. बीसीसीआई के इस एक्शन के बाद लखनऊ की टीम भी चौकन्ना हो गई है.

BCCI ने लखनऊ और अहमदाबाद की नई टीमों के लिये ऑक्शन की घोषणा की थी, जिसमें RPSG ग्रुप ने 7090 करोड़ रुपए की सबसे बड़ी बोली लगाकर लखनऊ की टीम को खरीद लिया. और CVC SPORTS ने अहमदाबाद टीम ने 5625 करोड़ रुपए की सबसे बड़ी बोली लगाकर खरीद लिया. लेकिन नीलामी के ठीक अगले दिन CVC CAPITAL PARTNERS के बेटिंग कंपनियों में निवेश के खुलासे के बाद से अब क्लियरेंस में देरी हो रही है. CVC SPORTS के अधिकारी BCCI को समझने की कोशिश कर रहे हैं कि UK की बेटिंग फर्म में किया गया निवेश पूरी तरह से कनूनी है. BCCI इस मामले पर एक से दो दिनों में फैसला दे सकता है.

कानपुर में भारत-न्यूजीलैंड मैच की तैयारी तेज, खिलाड़ी लेंगे ग्रीक और जर्मन फूड का मजा

इधर CVC CAPITAL ने अभी तक इस मामले पर कोई बयान नहीं दिया है. लेकिन चर्चा जोरों पर है कि फैसला उनके पक्ष में आ सकता है. निवेश्यकों का दावा है कि BCCI के एक बड़े स्टेक होल्डर के साथ, कई बड़ी विदेशी कंपनियों ने बेटिंग कंपनियों में निवेश किया है. उन्होंनेये भी कहा कि ये किसी भी तरह से गैर-कानूनी नहीं है. CVC CAPITALS के बेटिंग कंपनियों में निवेश के खुलासे के बाद सबसे पहले BCCI पर सवाल उठाए गए. और शक जताया गया कि IPL पर फिक्सिंग और सट्टेबाजी का खतरा मंडरा रहा है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें