IRCTC ने तेजस एक्सप्रेस का टिकट फ्री करके यात्रियों को बनाया अप्रैल फूल

Smart News Team, Last updated: 10/02/2021 05:53 PM IST
  • यत्रियों ने जब आईआरसीटीसी पर इतना बड़ा ऑफर देखा तो हैरान रह गए. यात्रियों ने तुरंत ही वेबसाइट पर जा कर अपनी यात्रा की बुकिंग के लिए डिटेल्स भर दी, लेकिन पेमेंट मोड में आते ही उन्हें जोर का झटका लगा.
IRCTC ने तेजस एक्सप्रेस का टिकट फ्री करके यात्रियों को बनाया अप्रैल फूल

लखनऊ। भारत के कॉरपोरेट सेक्टर की पहली ट्रेन तेजस का किराया मुफ्त हो गया. सिर्फ किराया ही नही उसका बेस फेयर, रिजर्वेशन चार्ज और यहां तक की कैटरिंग चार्ज, सब कुछ मुफ्त हो गया. यत्रियों ने जब आईआरसीटीसी पर इतना बड़ा ऑफर देखा तो हैरान रह गए. यात्रियों ने तुरंत ही वेबसाइट पर जाकर अपनी यात्रा की बुकिंग के लिए डिटेल्स भर दी, लेकिन पेमेंट मोड में आते ही उन्हें जोर का झटका लगा. वेबसाइट पर तेजस एक्सप्रेस में जो टिकट पहले फ्री दिखा रहा था, पेमेंट मोड पर आते ही वही टिकट 1160 रुपए का दिखाने लगा.

जब यात्री 14 फरवरी की यात्रा का टिकट बुक कर रहे थे. तभी ये मामला पेश आया हुआ. पहले इस ट्रेन का एसी चेयरकार का किराया 4060 रुपये और एक्जक्यूटिव क्लास का केवल 2680 रुपये ही दिखायी दे रहा था. जो कि इसका वास्तविक किराया है. उसी दिन जब दोबारा आइआरसीटीसी की वेबसाइट और एप पर बुकिंग करने लगे तब एसी चेयरकार का किराया तालिका में किराया शून्य दिखने लगा, जबकि एक्जक्यूटिव क्लास का किराया 2006 रुपये दिखने लगा.

UP में बैंक का बड़ा फैसला, पति निकला डिफाल्टर तो पत्नी को नहीं मिलेगा लोन

आइआरसीटीसी की तकनीकी टीम को इस बाबत जानकारी हुई तो पूरे तकनिकी विभाग में हड़कंप मच गया, आईआरसीटीसी ने आनन फानन में सेंटर फॉर रेलवे इंफारमेशन सिस्टम (क्रिस) को मामले की रिपोर्ट दी, जिसके बाद तेजस एक्सप्रेस के किराए में दिखने वाली गड़बड़ी को ठीक किया गया.

यूपी: 22 फरवरी को बजट पेश करेगी योगी सरकार, 24 को होगी चर्चा

तेजस एक्सप्रेस ट्रेन में मंगलवार तक एसी चेयरकार की कुल 770 सीटों में से 390 सीटें पहले ही बुक की जा चुकी थी. तकनीकी खराबी को ठीक करने के बाद आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर सभी यात्राओं की डिटेल सही दिखने लगीं. तेजस एक्सप्रेस के चलने के पहले ही दिन यानी 14 फरवरी की इकोनॉमी क्लास की एसी चेयरकार की पहली 300 सीटें पहले ही यात्रियों द्वारा बुक की जा चुकी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें