IRCTC की साइट हैक कर ऐप के जरिए ठगी करने वाला ट्रैवेल एजेंट एसटीएफ के हत्थे चढ़ा

Smart News Team, Last updated: 13/12/2020 09:42 PM IST
आईआरसीटीसी की अधिकारिक साइट को हैक करने वाले एक ट्रैवेल एजेंट को एसटीएफ ने पकड़ लिया. उसके पास से लैपटॉप समेत कई टिकट भी मिली. जिन्हें वह रेलवे से भी कम समय में लोगों को उपलब्ध करवा देता था. 
एसटीएफ की गिरफ्त में ठग करने वाला ट्रैवेल एजेंट.

लखनऊ: एसटीएफ ने कार्रवाई करते हुए गलत तरीके से टिकट बनाकर बेचने वाले ट्रैवेल एजेंट को दबोच लिया. यह ट्रैवेल एजेंट रेलवे की अधिकारिक साइट को हैक कर दूसरे ऑनलाइऩ अऩ्य ऐप के जरिए तत्काल टिकट बनाता था. जिसकी जानकारी पुलिस को गुप्त फोन के जरिए हुई. जानकारी यह मिली कि अवैध एक्स्टेंशन की बिक्री हो रही है. घात लगाए बैठी एसटीएफ ने उस एजेंट को बस्ती से गिरफ्तार किया. आरोपी के पास से 245 टिकट, दो लैपटॉप समेत अन्य चीजें भी बरामग हुईं. अब पुलिस को यह लग रहा है कि इसमें रेलवे कर्मचारी भी मिले हो सकते हैं.

वहीं, एसटीएफ डिप्टी एसपी दीपक कुमार सिंह ने मामले पर कहा, आरोपी सद्दाम अपने घर पर अंसारी टूर एंड ट्रैवेल्स नाम से कार्यालय खोले था. जहां, ये गोरखधंधा चल रहा था. आरोपी गलत तरीके से एक्सटेंशन की बिक्री कर रहा था. इनके जरिए ही वह अनुचित तरीके से तत्काल टिकट निकालकर ऊंचे दाम पर बेच देता था. यह व्यापार ई-टिकट और जनसेवा केंद्र की आढ़ में हो रहा था. उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान बस्ती के छावनी, मलौली निवासी सद्दाम हुसैन अंसारी नाम से हुई.

कानपुर: COD में तैनात कर्नल ने दोस्त की रशियन पत्नी के साथ किया रेप, केस दर्ज

अधिकारी आगे कहते हैं कि सद्दाम के व्हाट्सएप चैट से एक्सटेंशन की लेन-देन की बात सामने आई. आरोपी के पास से पुलिस को तत्काल टिकट, लैपटॉप, मोबाइल फोन, कई दस्तावेज भी मिले. साथ ही आरोपी ने कबूल किया कि वह एनीडेस्क की मदद से कंप्यूटर पर इसे इंस्टाल कर लेता था. जिसके जरिए यूपी, बिहार, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब समेत कई देशों में काली कमाई का काम चल रहा था. एजेन्ट प्लस, तत्काल किंग रेड मिर्ची, तेज समेत कई ऐप से तत्काल टिकट करवा देता था.

लखनऊ के हजरतगंज स्थित कैथेड्रल में क्रिसमस के मौके पर 200 लोग कर सकेंगे प्रार्थन

वहीं, साइबर थाना प्रभारी अनिल सिसोदिया ने कहा, जिनको अर्जेंट टिकट चाहिए होता था. उनके लिए वह उसका पूरा ब्योरा एक्सटेंशन के जरिए भर देता. जिससे 60 मिनट के भीतर टिकट उपलब्ध हो जाता था. जबकि, रेलवे को तत्काल टिकट में ढाई मिनट लगते हैं. उन्होंने कहा, इनके कारनामे को गहराई से समझने के लिए सीआईबी और आरपीएफ टीम से मदद ली जाएगी.

महिला कुश्ती विश्व कप: भारतीय टीम सर्बिया रवाना, ओलंपिक क्वालिफाई करना लक्ष्य

लखनऊ: मनबढ़ों ने मारपीट कर लुटी नकदी, विरोध करने पर तोड़ी गाड़ी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें