आंख मूंदकर किसी पार्टी को समर्थन नहीं, OBC में शामिल करना लॉलीपॉप: कायस्थ महासभा

Smart News Team, Last updated: Thu, 12th Aug 2021, 7:00 PM IST
  • लखनऊ के होटल चरण में अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर प्रदेश और केंद्र सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष कायस्थों की उपेक्षा कर रही है.
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के सदस्य (फाइल फोटो).

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के होटल चरण में आज यानी गुरुवार को अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ( रा. प्र) ने एक प्रेस वार्ता आयोजित की. इस दौरान अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ इंद्रसेन श्रीवास्तव ने सत्तारूढ़ दल पर कायस्थ समाज की उपेक्षा का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार में इकलौते कायस्थ मंत्री को हटा दिया गया. प्रदेश सरकार में भी कायस्थों की लगातार उपेक्षा हुई है. जो अब उन्हें बर्दाश्त नहीं है. उन्होंने कहा कि कायस्थ समाज अब किसी भी दल की उपेक्षा बर्दाश्त नहीं करेगा.

वहीं, अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर डॉ इंद्रसेन श्रीवास्तव ने कहा कि वे उस दल का समर्थन करेंगे जो कायस्थ समाज को सम्मान देगा और भागीदार बनाएगा. श्रीवास्तव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कायस्थों की आबादी सवा करोड़ है और कायस्थ 70 विधानसभा सीटों पर निर्णायक भूमिका में हैं. इन 70 सीटों पर कायस्थ किसी भी दल के उम्मीदवार को जिताने और हराने में सक्षम हैं. उन्होंने कहा की कायस्थ महासभा कई प्रमुख राजनीतिक दलों के नेताओं के संपर्क में है, जो उन्हें उचित भागीदारी देने को तैयार हैं.

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने आज प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की. 

लखनऊ: कायस्थ महासभा ने बीजेपी पर लगाया कायस्थों की अनदेखी का आरोप

कायस्थों को ओबीसी समुदाय में शामिल करने के फैसले पर उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष 2022 के चुनाव के लिए लॉलीपॉप दे रहा है और जातीय संघर्ष को बढ़ावा देने का काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि महासभा कायस्थों को राजनीतिक सम्मान दिलाने के लिए अपनी लड़ाई लगातार जारी रखेगी. मालूम हो कि अखिल भारतीय कायस्थ महासभा 22 राज्यों में काम कर रही है. उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में कायस्थ महासभा की मौजूदगी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें