केजीएमयू में जनवरी तक ओपीडी फुल, हृदय रोगियों की बढ़ी मुश्किलें

Smart News Team, Last updated: Mon, 14th Dec 2020, 5:42 PM IST
  • केजीएमयू में करीब 31 विभागों की ओपीडी संचालित हैं. लॉकडाउन खुलने के बाद शुरू हुई ओपीडी मरीजों को राहत नहीं दे पा रही है.
केजीएमयू लखनऊ

लखनऊ: राजधानी लखनऊ में स्थित केजीएमयू की ओपीडी में मरीजों को दिखाना मुश्किल हो गया है. KGMU में समय पर मरीजों का ऑपरेशन तो दूर की बात है, यहां के सर्जरी वाले विभागों की ओपीडी में दिखाने के लिए जनवरी तक शेड्यूल फुल है. डॉक्टर को दिखाने के लिए ओपीडी के नंबर जनवरी तक फुल बता रहे हैं. ऐसे ही न्यूरो सर्जरी, प्लास्टिक सर्जरी समेत कई विभागों में जनवरी बाद की डेट मिल रही है.

KGMU में करीब 31 विभागों की ओपीडी संचालित हैं. लॉकडाउन खुलने के बाद शुरू हुई ओपीडी मरीजों को राहत नहीं दे पा रही है. ऑनलाइन पंजीकरण सिस्टम के साथ ही 20 नए व 30 पुराने मरीज का नियम भी बाधा बना हुआ है. हृदय रोगी तक डॉक्टरों को समय पर दिखा नहीं पा रहे हैं. ठंड में उनकी दिक्कतें लगातार बढ़ रही हैं. ऐसे में दूसरे अस्पतालों में भटकने को मजबूर हैं.

इलेक्शन बूथ की तरह ही बनेंगे कोरोना टीकाकरण बूथ

जहां पहले आठ से नौ हजार मरीज KGMU में दिखाने आते थे, वहीं अब यह संख्या 1,550 के आस-पास सिमट रही है. जिसके चलते ओपीडी पंजीकरण नंबर में वेटिंग काफी बढ़ गई है. इन मरीजों को दिसंबर में पंजीकरण नंबर नहीं मिल पा रहा है, हाल यह है कि 50 फीसद विभागों की ओपीडी जनवरी तक फुल हो गई हैं. केजीएमयू में वर्तमान में करीब 50 हजार से अधिक मरीज ओपीडी में पंजीकरण करा चुके हैं. वह दिखाने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं.

हाइवे पर गाड़ियों की स्पीड लिमिट पर ब्रेक! परिवहन विभाग ने नई एडवाइजरी की जारी

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें