लखीमपुर खीरी: BJP कार्यकर्ताओं के परिवार ने प्रियंका गांधी से मिलने से मना किया, बहराइच रवाना

Shubham Bajpai, Last updated: Thu, 7th Oct 2021, 3:11 PM IST
  • लखीमपुर से बहराइच निकलने से पहले प्रियंका गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा में बीजेपी के जो कार्यकर्ता मरे हैं, उनके परिवार से भी मैं मिलना चाहती थी. मैंने इसके लिए आईजी से बात भी की, लेकिन आईजी का कहना है कि परिवार के लोग मिलना नहीं चाहते. मैं उनके प्रति संवेदना प्रकट करती हूं.
BJP कार्यकर्ताओं के परिवार ने प्रियंका गांधी से मिलने से मना किया, बहराइच रवाना (फाइल फोटो)

लखनऊ. लखीमपुर हिंसा में मारे गए सभी किसान मृतकों के परिवार से मिलने के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मारे गए पत्रकार के परिवार वालों से भी मुलाकात की. इस दौरान प्रियंका ने भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवार से मिलने की इच्छा जताई, लेकिन परिवार वालों ने मिलने से मना कर दिया. जिसको लेकर उन्होंने कहा कि मेरी उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं है. बता दें कि अब प्रियंका गांधी लखीमपुर से बहराइच की ओर रवाना हो गई हैं.

आईजी ने कहा परिवार वाले नहीं चाहते मिलना

प्रियंका ने कहा कि मैं बीजेपी के जो कार्यकर्ता हिंसा में मरे हैं, उनके परिवार से भी मिलना चाहती थी. मैंने इसको लेकर आईजी से पूछा तो आईजी ने कहा कि वह आपसे नहीं मिलना चाहते हैं. मैं उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करती हूं.

लखीमपुर खीरी: प्रियंका गांधी बोली- निष्पक्ष जांच होने तक इस्तीफा दे गृह राज्य मंत्री

बीजेपी ने लगाया भाजपा के तीन परिवारों से न मिलने का आरोप

वहीं, इस मामले में अब सियासत शुरू हो गई है. बीजेपी ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी पर मारे गए 8 में से 5 परिवार से मिलकर जाने का आरोप लगाया. बीजेपी नेताओं का कहना है कि प्रियंका और राहुल किसानों और पत्रकार के परिवार से मिलकर चले गए, लेकिन दो बीजेपी कार्यकर्ता और गाड़ी के ड्राइवर के परिवार से मुलाकात तक नहीं की.

कांग्रेस देगी सिर्फ 5 परिवारों को मुआवजा

जानकारी अनुसार, लखीमपुर हिंसा में 8 लोगों की मौत हुई थी, लेकिन कांग्रेस इनमें सिर्फ 5 लोगों को मुआवजा दे रही है. जिसमें एक पत्रकार और 4 किसान शामिल हैं. हिंसा में मरे 3 बीजेपी कार्यकर्ताओं को कांग्रेस मुआवजा नहीं दे रही है. इन पांच लोगों के परिवार को पंजाब और छत्तीसगढ़ सरकार यूपी सरकार से अधिक 50-50 लाख रुपये जुर्माना दे रही है. जिसके चलते कांग्रेस की तरफ से एक परिवार को 1 करोड़ रुपये मुआवजा दिया जा रहा है.

योगी सरकार का बड़ा फैसला, कोरोना मृतकों के परिजनों को मिलेगी 50 हजार सहायता राशि

बता दें कि लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर को हुई हिंसा में चार किसानों समेत 8 लोगों की मौत हुई थी. इस मामले में किसानों ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर आरोप लगाया कि आशीष ने कार से किसानों को रौंदा है. काफी विवाद के बाद आशीष मिश्रा पर केस दर्ज कराया गया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें