लखीमपुर खीरी: वायरल वीडियो में जान की भीख मांगता रहा ड्राईवर, उग्र भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला

Nawab Ali, Last updated: Mon, 4th Oct 2021, 2:05 PM IST
  • लखीमपुर हिंसा का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें टेनी के एक ड्राईवर की पिटाई की जा रही है. ड्राईवर वीडियो में जान की भीख मांग रहा है लेकिन लगातार उसकी पिटाई की जा रही है जिससे उसकी मौत हो गई.
केंद्रीय गृह मंत्री अजय मिश्रा.

 

लखनऊ. उत्तर प्रदेश का लखीमपुर खीरी सियासी अखाड़ा बना हुआ है. प्रदर्शन कर रहे किसानों की गाड़ी से कुचलकर मौत हो गई थी जिसके बाद हुई हिंसा में चार और लोगों की मौत हो गई. केंद्रीय गृह मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ाने का आरोप लग रहा है. जिसके बाद रिपोर्ट दर्ज कर आशीष मिश्रा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. लेकिन हिंसा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें टेनी के एक ड्राईवर की पिटाई की जा रही है. ड्राईवर वीडियो में जान की भीख मांग रहा है लेकिन लगातार उसकी पिटाई की जा रही है जिससे उसकी मौत हो गई. 

टेनी का ड्राईवर उग्र भीड़ से जिंदगी बख्श देने की भीख मांगता रहा लेकिन उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. ड्राईवर वीडियो में हाथ जोड़ते हुए कह रहा है कि दादा-दादा,.छोड़ दो. भीड़ में से कुछ लोग ड्राईवर से सवाल करते हुए पूछते हैं कि बताओ किसने भेजा है जिस पर ड्राईवर कहता है टेनी ने भेजा है. भीड़ में से सवाल करने के बाद ड्रा ईवर कहता है कि टेनी ने गाड़ी चढ़ाने के लिए नहीं बल्कि भीड़ को देखने के लिए भेजा था. वीडियो में कई लोग जबरदस्ती ड्राईवर को अपनी बात मनवाते दिख रहे हैं. ड्राईवर अपनी जान की भीख मनागता रहा लेकिन भीड़ से किसी का भी दिल नहीं पसीजा और पीट-पीटकर हत्या कर दी. 

लखीमपुर खीरी मामले में पूर्व सीएम का कांग्रेस पर निशाना, घटना बेहद दुखद, लेकिन लाशों पर राजनीति सही नहीं

लखीमपुर खीरी की घटने पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ने बेटे आशीष मिश्रा का बचाव करते हुए कहा है कि उस वक्त उनका बीटा घटनास्थल पर मौजूद नहीं था. उनके बेटे पर बेबुनियाद आरोप लगाए जा रहे हैं. अजय मिश्रा ने कहा है कि प्रदर्शनकारियों ने हमारे दो कार्यकर्ताओं और एक ड्राइवर को पीट-पीटकर मार डाला। हम मामले में मुकदमा दर्ज करवा रहे हैं। हमारे पास वीडियो फुटेड है, जिससे साफ पता चल रहा है कि घटनास्थल पर आखिर हुआ क्या था? हमारे पास वीडियो सबूत है सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कराया जायेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें