लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की सुनवाई 26 अक्टूबर तक टली, SC ने UP सरकार को लगाई फटकार

Prachi Tandon, Last updated: Wed, 20th Oct 2021, 1:49 PM IST
  • सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को लखीमपुर खीरी हिंसा की सुनवाई 26 अक्टूबर तक टाल दी है. एससी ने यूपी सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि वह अपना काम करने से बच रही है.
लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की सुनवाई 26 अक्टूबर तक टली.

लखनऊ. सुप्रीम कोर्ट ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की सुनवाई को 26 अक्टूबर तक टाल दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर बुधवार को सुनवाई करते हुए यूपी सरकार से सवाल किया कि अभी तक इस मामले में और लोगों से पूछताछ क्यों नहीं की गई है. चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने यूपी सरकार से सवाल किया कि अभी तक इस मामले में 44 में से 4 गवाहों से पूछताछ की गई है, और लोगों से क्यों नहीं की गई. इसी के साथ एससी ने यूपी सरकार की तरफ से सुनवाई को शुक्रवार तक टालने की मांग को भी खारिज कर दिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सुनवाई करते हुए यूपी सरकार के वकील हरीश साल्वे को कहा कि कोर्ट ने मंगलवार की देर रात तक स्टेटस रिपोर्ट दायर किए जाने का इंतजार किया. लेकिन सरकार की तरफ से स्टेटस रिपोर्ट दाखिल नहीं की गई. एससी ने कहा कि हमें अब स्टेटस रिपोर्ट मिली है. एससी ने इसी के साथ यूपी सरकार की तरफ से सुनवाई को टालने की मांग को भी खारिज कर दिया है. एससी ने इसी के साथ यह भी कहा कि यूपी सरकार अपना काम करने से बच रही है. 

यूपी चुनाव 2022 में बसपा के लिए 118 सीटें अहम, मायावती गुणा-गणित बैठाने में जुटीं

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने रिपोर्ट देर से दाखिल करने पर यूपी सरकार को फटकारते हुए कहा कि 'इतनी देर से रिपोर्ट सौपेंगे तो हम इसे कैसे पढ़ेंगे? कम-से-कम एक दिन पहले दायर करनी चाहिए.' वहीं एससी के 44 में से 4 गवाहों से पूछताछ करने के सवाल पर यूपी सरकार की तरफ से पैरवी कर रहे वकील हरीश साल्वे ने जवाद दिया कि पूछताछ की प्रक्रिया जारी है औऱ सभी मुख्य आरोपियों को अरेस्ट किया जा चुका है. यूपी सरकार ने एससी को बताया कि अबतक इस मामले में 10 लोगों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा चुका है, जबकि चार आरोपी पुलिस की हिरासत में हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें