लखीमपुर खीरी हिंसा: 12 घंटे की पूछताछ के बाद केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा का बेटा आशीष मिश्रा गिरफ्तार

Ankul Kaushik, Last updated: Sat, 9th Oct 2021, 11:52 PM IST
  • लखीमपुर हिंसा में किसानों की मौत के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है. आशीष मिश्रा उर्फ मोनू भईया को 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया है.
लखीमपुर हिंसा मामले में आशीष मिश्रा गिरफ्तार

लखनऊ. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को लखीमपुर हिंसा मामले में गिरफ्तार कर लिया है. आशीष मिश्रा को 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया है. वहीं आशीष मिश्रा उर्फ मोनू भईया की गिरफ्तारी पर लखीमपुर खीरी मामले में पर्यवेक्षण समिति के अध्यक्ष DIG उपेंद्र अग्रवाल ने कहा कि लंबी पूछताछ के बाद हमें लगा कि आशीष मिश्रा जांच में सहयोग नहीं कर रहे. विवेचना में कई बातें बताना नहीं चाहते हैं और इसलिए हम उन्हें गिरफ्तार कर रहे हैं और उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा.

लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य आरोपी और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा से एसआईटी ने शनिवार को घंटों पूछताछ की. बता दें कि यूपी पुलिस की तरफ से आशीष मिश्रा को तलब के लिए एक समन भी भेजा गया था. इसके बाद आशीष मिश्रा शनिवार की सुबह 10:40 बजे क्राइम ब्रांच के कार्यालय के सामने अचानक हाजिर हो गए. जब आशीष मिश्रा कार्यालाय आया तो उसके साथ लखीमपुर सदर विधायक योगेश वर्मा, अजय मिश्रा टेनी के प्रतिनिधि अरविंद सिंह संजय और जितेंद्र सिंह जीतू पुलिस लाइन के दफ्तर में आए. आशीष मिश्रा पर हत्या का मामला दर्ज है और पांच दिन बाद उसे गिरफ्तार किया गया है. 

Lakhimpur Kheri Violence: संयुक्त किसान मोर्चा का ऐलान, 18 को रोकेंगे रेल, लखनऊ में करेंगे महापंचायत

बता दें कि 3 अक्टूबर को रविवार को लखीमपुर खीरी में चार किसानों सहित आठ व्यक्तियों की मौत हो गई थी. इस मामले में आशीष मिश्रा मुख्य आरोपी था, आशीष पर आरोप था कि किसानों की मौत इसकी गाड़ी से कुचलकर हुई है. हालांकि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ने कहा था कि उनका बेटा मौके पर मौजूद नहीं थी. वहीं आशीष मिश्रा के खिलाफ तिकुनिया थाने में 304 ए, 302, 120बी, 338, 279, 147,148,149 के तहत संगीन धाराओं में मामला दर्ज है. यूपी पुलिस ने आशीष मिश्रा को धारा 160 सीआरपीसी के तहत नोटिस जारी किया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें