लखीमपुर खीरी: मंत्री अजय मिश्रा टेनी बोले- बेटे की तबीयत खराब, पुलिस के सामने जल्दी पेश होगा

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Fri, 8th Oct 2021, 5:23 PM IST
  • Lakhimpur Kheri Case केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी ने बताया कि आशीष मिश्रा की तबियत खराब चल रही है. स्वास्थ्य में सुधार होते ही पुलिस के सामने जल्द पेश होगा. वहीं दूसरी तरफ क्राइम ब्रांच ने लखीमपुर खीरी हिंसा में आरोपी आशीष मिश्रा के खिलाफ 9 अक्टूबर को 11 बजे तक पेश होने की नोटिस चस्पा कर दी है.
लखीमपुर खीरी: मंत्री अजय मिश्रा टेनी बोले- बेटे की तबीयत खराब, पुलिस के सामने जल्दी पेश होगा (ANI Photo) (ANI)

लखनऊ. लखीमपुर खीरी मामले में आरोपी आशीष मिश्र के पिता और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी ने बताया कि बेटे की तबियत खराब होने चलते आशीष मिश्रा अभी तक पुलिस के सामने पेश नहीं हो पाए है. बेटे की तबियत में सुधार होते ही वह पुलिस के सामने पेश होंगे.   यह जानकारी अंग्रेजी समाचार चैनल न्यूज 18 की रिपोर्ट से मिली. उन्होंने कहा कि घटना के दौरान मेरा बेटा वहां पर नहीं था. आगड वह वहां होता तो उसे भी मार देते. इतना ही नहीं वह यह भी बोले कि कोई और सरकार होती तो मेरे जैसे बड़े पद वाले के बेटे पर कोई FIR नहीं होती. 

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में क्राइम ब्रांच ने सामने हाजिर होने के लिए शनिवार यानी 9 अक्टूबर को 11 बजे तक पेश होने का वक्त दिया है. इसके साथ ही क्राइम ब्रांच ने आशीष मिश्रा को शनिवार को पेश नहीं होने पर उनके खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी करने का भी नोटिस चस्पा कर दिया है. वहीं इससे पहले शुक्रवार को क्राइम ब्रांच के सामने पेश होने के लिए आशीष मिश्रा को बुलाया गया था.

कोई और सरकार होती तो मेरे जैसे बड़े पद वाले के बेटे पर FIR नहीं होती: अजय मिश्रा

बता दें कि लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है. जिसमें आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी अभी तक नहीं होने पर सरकार को जवाब देना पड़ा. इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने लखीमपुर खीरी में हुए हिंसा पर यूपी सरकार द्वारा लिए गए एक्शन पर असंतोष जाहिर किया. वहीं इस सुनवाई के दौरान यूपी सरकार के अधिवक्ता हरीश साल्वे ने कहा कि अगर व्यक्ति क्राइम ब्रांच के सामने नहीं आता है तो कानून की सख्ती का सहारा लिया जाएगा. 

इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि क्या यूपी सरकार अन्य आरोपियों के साथ भी नोटिस भेजने जैसा व्यवहार करती है? साथ ही यह भी पूछा कि जब मौत या बंदूक की गोली से घायल होने का गंभीर आरोप है तो क्या देश में आरोपियों के साथ ऐसा ही व्यवहार किया जाएगा? जिसका जवाब यूपी सरकार के अधिवक्ता नहीं दे पाए. वहीं कोर्ट की सख्ती के बाद यूपी पुलिस ने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के घर एक नोटिस चस्पा कर दिया. जिनमे आशीष मिश्रा को 9 अक्टूबर को 11 बजे तक क्राइम ब्रांच के सामने पेश होने के लिए कहा गया है. वहीं आशीष के बड़े भाई ने बताया है कि उन्हें वायरल हो गया है. देर- सबेर जरूर आएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें