लश्कर ए तैयबा ने लखनऊ, वाराणसी समेत UP के 46 स्टेशनों को उड़ाने की दी धमकी, प्रशासन अलर्ट

Somya Sri, Last updated: Mon, 1st Nov 2021, 7:15 AM IST
शनिवार की देर रात खुफिया एजेंसियों को आंतकी संगठन लश्कर ए तैयबा से धमकी मिली कि वे यूपी के 46 स्टेशनों को बम से उड़ा देंगे. आंतकी संगठन के धमकी के बाद से ही प्रशासन अलर्ट मोड में हैं. धमकी के बाद लखनऊ, वाराणसी, अयोध्या, उत्तराखंड का हरिद्वार, बरेली, मुरादाबाद, प्रयागराज, अलीगढ़, गोरखपुर, कानपुर सहित यूपी के 46 स्टेशनों पर कड़ी सुरक्षा तैनात कर दी गयी है.
लश्कर ए तैयबा ने लखनऊ, वाराणसी समेत UP के 46 स्टेशनों को उड़ाने की दी धमकी, प्रशासन अलर्ट( प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ: लश्कर ए तैयबा आंतकी संगठन ने धमकी दी है कि वे उत्तर प्रदेश के 46 स्टेशनों को उड़ा देगा. आंतकी संगठन के धमकी के बाद से ही प्रशासन अलर्ट मोड में हैं. सभी स्टेशनों पर चौकसी बढ़ा दी गयी है. यात्रियों के बैग खंगाले जा रहे हैं. स्टेशनों पर कड़ी सुरक्षा है. कंट्रोल रूम से सभी स्टेशन पर निगरानी रखी जा रही है. हालांकि अभी तक किसी भी स्टेशन से कोई संदिग्ध वस्तु बरामद नहीं हुई है. शनिवार की देर रात खुफिया एजेंसियों को आंतकी संगठन लश्कर ए तैयबा से धमकी मिली कि वे यूपी के 46 स्टेशनों को बम से उड़ा देंगे.

बता दें कि धमकी के बाद से ही रेलवे प्रशासन हाई अलर्ट मोड में हैं. वे किसी भी चूक को बर्दाश्त नहीं करना चाहते हैं. यही कारण है कि यूपी के कई स्टेशन पर आरपीएफ और जीआरपी की तैनाती कर दी गयी है. आरपीएफ और जीआरपी स्टेशनों पर कड़ी निगरानी रखी हुई है. फ़ोर्स टीम चप्पे चप्पे पर चेकिंग कर रही है. बताया जा रहा है कि आंतकी संगठन के निशाने पर अयोध्या और हरिद्वार भी है. खुफिया एजेंसियों को मिली धमकी के बाद लखनऊ, वाराणसी, अयोध्या, उत्तराखंड का हरिद्वार, बरेली, मुरादाबाद, प्रयागराज, अलीगढ़, गोरखपुर, कानपुर सहित यूपी के 46 स्टेशनों पर कड़ी सुरक्षा तैनात कर दी गयी है.

AIMIM राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी बोले- NRC और CAA लागू हुआ तो सड़कों पर उतरेंगे मुस्लिम

मालूम हो कि अभी दीवाली और छठ पर्व आने वाला हैं. इस दौरान लोग ज्यादा सफर करते हैं. दफ्तर से घर जाने के लिए ट्रेन की टिकट बुकिंग म हीनों से चल रही होती है. ऐसे में लश्कर ए तैयबा द्वारा इस प्रकार की धमकी से प्रशासन कोई चूक नहीं करना चाहती है. वहीं अगले साल यूपी विधानसभा चुनाव है. जिसे लेकर योगी आदित्यनाथ की सरकार भी तैयारियों में जुटी है. इस दौरान अगर आंतकी संगठन द्वारा कुछ भी घटना होता है तो इससे कहीं न कहीं यूपी प्रशासन पर सवाल खड़े हो सकते हैं. जिसका असर वोट बैंक पर पड़ सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें